पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

धरना प्रदर्शन:जिलेभर के डॉक्टरों ने लाल बत्ती चौक जाम कर एक घंटे यातायात किया ठप

संगरूर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
संगरूर में सरकार के खिलाफ रोष मार्च निकालते जिलेभर से आए डॉक्टर्स।                           -भास्कर - Dainik Bhaskar
संगरूर में सरकार के खिलाफ रोष मार्च निकालते जिलेभर से आए डॉक्टर्स। -भास्कर
  • हड़ताल पर चल रहे डॉक्टर आज अस्पताल में कमरों के बाहर टेबल लगा करेंगे चेकअप

वेतन आयोग की सिफारिशों के विरोध में तीन दिनों से हड़ताल पर चल रहे डॉक्टरों ने बुधवार को अपनी सीट छोड़ कर शहर की सड़कों पर प्रदर्शन किया। जिले भर से जुटे डॉक्टरों ने शहर के लाल बत्ती चौक को जाम कर एक घंटे यातायात ठप किया। इस दौरान गुस्साए डॉक्टरों ने चौक में ही वेतन आयोग की सिफारिशों की कॉपियां भी फूंकी।

डीसी को मांग पत्र सौंप कर भत्ते को पूरा बहाल करने की मांग की गई। उधर, डॉक्टरों की सरकार के बीच लड़ाई में मरीज पिस रहा है। बुधवार भी मरीजों को दर्द के साथ अस्पताल में भटकते देखा गया है। खास बात यह है कि तीन दिन से मरीजों की परेशानी को देखते हुए डॉक्टर वीरवार को हड़ताल के दौरान यूनियन स्तर पर कमरों के बाहर टेबल लगाकर मरीजों का चेकअप करेंगे और यूनियन की तरफ से ही मरीजों को दवा मुफ्त दी जाएगी। ब्लड कैंप लगा रक्तदान किया जाएगा।

डॉक्टर्स बोले- सड़कों पर आने के लिए प्रदेश सरकार ने किया मजबूर
एसएमओ डॉ बलजीत सिंह, डॉ राहुल, डॉ पीएस कलेर ने कहा कि पूरे पंजाब के डॉक्टर तीन दिन से हड़ताल पर चल रहे हैं। पिछले माह हड़ताल के दौरान सरकार ने आश्वासन दिया था कि मांग को पूरा कर दिया जाएगा। परंतु सरकार अपने वादे से मुकर गई। इस कारण डॉक्टर हड़ताल करने को मजबूर हुए हैं। पंजाब सरकार भत्ते काट कर उन्हें सड़कों पर आने के लिए मजबूर किया है।​​​​​​​

मरीजों ने बयां किया दर्द

  • गांव ढडरियां से पहुंचे बजुर्ग की सड़क हादसे में आंख पर चोट लगी थी, जिसे चेक करवाने आया था परंतु चेकअप नहीं हुआ।
  • गांव बालियां से सुखदेव सिंह अपने दांत का चेकअप करवाने आया था परंतु इलाज नहीं मिला।
  • गांव बडरूखां से रूप सिंह को बुखार था परंतु उसे चेक नहीं किया गया।

एनपीए को 33 प्रतिशत करने की मांग
पीएसएमएस एसोसिएशन, पीसीएमएस एसोसिएशन डेंटल, आयुर्वेदिक मेडिकल अफसर एसोसिएशन, वेटरनरी डॉक्टर एसोसिएशन और रूरल मेडिकल एसोसिएशन, ज्वाइंट पंजाब सरकार डॉक्टर कोआर्डिनेशन कमेटी ने मांग की कि छठे वेतन आयोग में कम किए गए एनपीए को 33 प्रतिशत किया जाए। प्रदेश सरकार को मांग माननी चाहिए।

खबरें और भी हैं...