पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

रोष:संगरूर में एकता उगराहां का ढाई कि.मी लंबा मार्च बरनाला में 10 हजार से ज्यादा किसान एकत्रित हुए

संगरूर/बरनाला12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • कृषि कानूनों पर किसान गुस्सा, यूनियन ने किया एकता का प्रदर्शन
  • 49 दिन से संगरूर के 2 और चंडीगढ़ के तीन टोल प्लाजा पर दिन-रात डटे हैं किसान

कृषि कानूनों को लेकर केंद्र सरकार के खिलाफ किसान संगठनों में रोष बढ़ता जा रहा है। ऐसे में किसान टोल प्लाजा, भाजपा नेताओं के घरों, रिलांयस पंप और मॉल आदि से हटने को तैयार नहीं हैं। ऐसे में यदि टोल प्लाजा की बात की जाए तो संगरूर जिले में भाकियू ने धूरी रोड पर स्थित लड्डा में और पटियाला रोड पर स्थित कालाझाड टोल प्लाजा पर धरना देकर कामकाज ठप किया गया।

ऐसे में पिछले 49 दिनों से इन टोल प्लाजा को करीब 9 करोड़ रुपए का घाटा हुआ है। रात-दिन हर वाहन इन टोल प्लाजा पर बिना पर्ची निकाला जा रहा है। संगरूर से चंडीगढ़ तक की बात की जाए तो चंडीगढ़ तक सभी तीन टोल प्लाजा पर किसानों का कब्जा है।

पिछले दिनों केंद्र सरकार और किसान संगठनों की बीच हुई दूसरी मीटिंग भी असफल होने के कारण बरनाला में भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहां की तरफ से बरनाला की दाना मंडी से लेकर कचहरी चौक तक शहर के बाजारों में से मोटरसाइकिल और ट्रैक्टर ट्राली ऊपर रोष मार्च निकाला।

किसान नेता चमकौर सिंह, बलौर सिंह ने कहा कि भारतीय किसान यूनियन उगराहां की तरफ से एक विशाल रैली का आयोजन किया गया। इस रैली का मकसद किसानों को खेती कानून बिलों के विरोध में जागृत करना और लामबंद करना है। जिसके चलते 26-27 नवंबर को भारतीय किसान यूनियन उगराहां की तरफ से तकरीबन एक लाख से सवा लाख तक किसान चे दिल्ली की तरफ कूच करेंगे 26 और 27 नवंबर को दिल्ली का घेराव किया जाएगा।

संगरूर में भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहां की ओर से जिला प्रबंधकीय परिसर के समक्ष दिए गए धरने में ऐलान किया गया है कि अब भाकियू उगराहां केंद्र की बैठक में उस समय तक भाग नहीं लेगी, जब तक केंद्र प्रपोजल किसानों के समक्ष नहीं रखता है। बुधवार को ढाई किलोमीटर लंबे रोष मार्च में किसान ही किसान नजर आ रहे थे। 50 प्रतिशत तक तो महिला किसानों ने भाग लिया। ऐसे में पूरा दिन कई स्थानों पर जाम की स्थिति बनी रही। इस मौके पर बहाल सिंह ढींडसा, कृपाल धूरी, धरमिंदर पसौर, बहादूर भूूटालखुर्द आदि उपस्थित थे।

बरनाला में ट्रैक्टर-ट्रालियों पर 1 किलोमीटर लंबा लगा रोष मार्च

बाइक, ट्रैक्टर, ट्राली के 1 किलोमीटर रोष मार्च में 10 हजार से अधिक किसानों ने भाग लिया। इस रोष मार्च को अनाज मंडी बरनाला से शुरू किया गया। बस स्टैंड रोड, सदर बाजार, पक्का कालेज रोड होता हुआ कचहरी चौक पर डीसी दफ्तर के समक्ष इस रोष मार्च को खत्म किया गया। किसान नेताओं ने कहा कि सरकार यह समझने की भूल न करे कि समय बीतने के साथ किसानों का गुस्सा ठंडा हो रहा है।

उगराहां ग्रुप टोल प्लाजा, रिलायंस पंप के आगे अकेला ही डटा

भाकियूू एकता उगराहां ग्रुप की बात की जाए तो यह संगठन दूसरे किसान संगठनों की बजाए अलग प्रदर्शन कर रहा है। उगराहां की ओर से 49 दिनों से टोल प्लाजा, रिलायंस पंप और भाजपा नेताओं के घरों को घेरा हुआ है। यूनियन के प्रदेश प्रधान जोगिन्द्र सिंह का कहना है कि उनका संगठन दूसरे संगठनों की तरह कृषि बिलों का जोरदार ढंग से विरोध कर रहा है, लेकिन अलग प्रदर्शन करना कुछ गलत नहीं है।

आगे क्या : 21 से 23 नवंबर तक पंजाब के सभी गांवों में होंगे प्रदर्शन

भाकियू उगरहां की ओर से दावा किया गया है कि 26 नवंबर को दिल्ली में यूनियन की अगुआई में करीब डेढ़ लाख किसान भाग लेंगे। किसान खनौरी व डबवाली में इकत्रित होकर दिल्ली की तरफ कूच करेंगे। किसानों को इस संबंधी लामबंद करने के लिए 21 से 23 नवंबर तक पंजाब के सभी गांवों में महिलाएं दिन में प्रदर्शन करेंगी, जबकि शाम के समय युवा पूरे गांवों में ढोल और मशालों के साथ मार्च निकालेंगे।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- इस समय ग्रह स्थितियां पूर्णतः अनुकूल है। सम्मानजनक स्थितियां बनेंगी। आप अपनी किसी कमजोरी पर विजय भी हासिल करने में सक्षम रहेंगे। विद्यार्थियों को कैरियर संबंधी किसी समस्या का समाधान मिलने से ...

और पढ़ें