पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

आत्मदाह की कोशिश:बुजुर्ग महिला की एसएसपी ऑफिस के सामने आत्मदाह की कोशिश, साढ़े चार महीने बाद 8 के खिलाफ केस

संगरूरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बेटे की आत्महत्या के जिम्मेदार आरोपियों पर कार्रवाई न होने से बुजुर्ग ने खुद पर तेल छिडक़ा, पुलिस ने बचाया
  • परिवार का दावा : गांव की एक लड़की से थे बेटे के संबंध

बेटे की आत्महत्या के जिम्मेदार आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने से गुस्साई 65 वर्षीय बजुर्ग महिला ने एसएसपी ऑफिस के सामने खुद पर मिट्टी का तेल डालकर आत्मदाह की कोशिश की है। हालांकि पुलिस ने जबरी बुजुर्ग से तेल और माचिस की डिब्बी छीन लिए। मृतक युवक की मां, पिता और बहनें इंसाफ के लिए एसएसपी दफ्तर के सामने बीच सड़क पर रो रहे थे।

पीड़ित के परिजनों का आरोप है कि पुलिस ने एक सप्ताह के भीतर कार्रवाई का आश्वासन दिया था। बावजूद इसके कार्रवाई नहीं होने पर जब उन्होंने एसएसपी दफ्तर के सामने धरना दिया तो मौके पर पहुंचे डीएसपी सुनाम ने उन्हें डंडों से पीट कर भगाने की धमकी दी। डीएसी सुनाम बलजिंदर सिंह ने बताया कि आत्महत्या मामले को लेकर 8 लोगों को नामजद किया है।

परिवार का आरोप- 28 जनवरी को स्कूल में चपरासी बेटे ने ब्लैकमेलिंग से तंग आकर लगाया था फंदा
शुक्रवार को लौंगोवाल की झाड़ों पत्ती निवासी मृतक की मां मनजीत कौर, पिता सुखविंदर सिंह, दो बहनें व अन्य रिश्तेदार मासूम बच्चों को लेकर एसएसपी दफ्तर पहुंचे। सुनवाई न होने पर पीड़ित परिवार ने एसएसपी दफ्तर के सामने संगरूर-बरनाला रोड पर धरना देकर यातायात रोक दिया। इसका पता चलते डीएसपी सुनाम बलजिंदर सिंह पन्नू पुलिस बल के साथ मौके पर पहुंचे। इस दौरान परिवार और डीएसपी के बीच काफी कहासुनी हुई।

मनजीत कौर और सुखविंदर सिंह ने कहा कि बेटे की मौत को साढ़े चार महीने से अधिक का समय बीत चुका है। उसी समय से वह बेटे को आत्महत्या के लिए मजबूर करने वाले आरोपियों पर कार्रवाई के लिए दर-दर भड़क रहे हैं। शुक्रवार को डीएसपी सुनाम ने उन्हें डंडों से मार कर भगाने की धमकी दी।

परिवार का आरोप है कि 28 जनवरी को स्कूल में बेटे ने ब्लैकमेलिंग से तंग आकर फंदा लगाया था। बेटे के एक लड़की के साथ प्रेम संबंध थे। लड़की बेटे को ब्लैकमेल कर रही थी। बेटे पर रेप का झूठा मामला दर्ज करवा कर पैसों की मांग कर रही थी। इसमें गांव के दो युवक भी लड़की का साथ दे रहे थे। इस कारण बेटे ने जान दे दी।

कहा- पुलिस ने कार्रवाई नहीं की तो पूरा परिवार आत्मदाह करेगा
पीड़ित परिवार ने आरोप लगाया कि आरोपी उन्हें 2 लाख रुपए देकर चुप करवाना चाहते हैं। छोटे बेटे को प्राइवेट नौकरी दिलाने का लालच दे रहे हैं। पुलिस भी आरोपियों के साथ मिल चुकी है। आरोपियों पर मामला दर्ज न कर बचाने का प्रयास किया जा रहा है। लेकिन वह किसी भी हालत में चुप नहीं बैठेंगे। पीड़ितों ने चेतावनी दी कि यदि पुलिस ने कार्रवाई नहीं की तो पूरा परिवार एसएसपी दफ्तर के समक्ष आत्मदाह करेगा।

पुलिस को सबूत दिया, नहीं की कार्रवाई
लौंगोवाल की झाड़ों पत्ती निवासी मनजीत कौर ने बताया कि सुसाइड नोट और आत्महत्या की लाइव वीडियो के सबूत पुलिस को दिए, लेकिन कार्रवाई नहीं की।

खबरें और भी हैं...