पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

जन-आक्रोश:किसानों ने बेरिकेड्स तोड़ केंद्रीय राज्यमंत्री कैलाश चौधरी की ऑनलाइन बैठक का किया घेराव, बिल्डिंग में फंसे भाजपा नेताओं को पुलिस ने निकाल घर भेजा

संगरूर8 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • यूनियनों का आरोप- भाजपा का पक्ष लेकर किसानों को लाठी के दम पर डरा रही पुलिस

कृषि कानूनों के प्रति किसानों को जागरूक करने और मीडिया से बातचीत करने के लिए केन्द्रीय खेतीबाड़ी व जन कल्याण राज्यमंत्री कैलाश चौधरी की ओर से शहर के सर्वहितकारी विद्या मंदिर में रखी गई ऑनलाइन बैठक के दौरान माहौल तनावपूर्ण हो गया।

बड़ी संख्या में जुटे किसान बैठक का विरोध करने के लिए मौके पर पहुंच गए, हालांकि पुलिस भारी सुरक्षा बल के साथ किसानों को स्कूल के 100 मीटर दूरी पर रोक दिया परंतु किसानों ने सुरक्षा घेरा को तोड़ स्कूल को घेर लिया। इस दौरान किसानों ने भाजपा और पंजाब सरकार के विरूद्ध खूब भड़ास निकाली।

किसानों ने ऑनलाइन बैठक को रद्द कर भाजपा नेताओं को बैठक से बाहर निकालने की मांग रखी। ऐसे में मौके पर पहुंचे एसएसपी डॉ. विवेकशील सोनी ने किसानों और भाजपा नेताओं से बातचीत कर मामले को शांत किया। भाजपा नेताओं को सुरक्षित बाहर निकाल घर भेज दिया गया।

किरती किसान यूूनियन के यूथ विंग के राज्य कनवीनर भूपिंदर लौंगोवाल, पंजाब किसान यूूनियन के बलवीर जलूर, भाकियू सिद्धूपुर के रण सिंह चट्‌ठा, भाकियू राजेवाल के गुरमीत कपियाल, भाकियू डकौंदा के कर्म सिंह ने कहा कि पुलिस भाजपा का पक्ष लेकर किसानों को लाठी के दम पर डरा रही है।

बुधवार को भाजपा मंत्रियों की ओर से ऑनलाइन बैठक कर कृषि कानूनों का प्रचार किया जा रहा था, जिसका पंजाबभर में किसान विरोध कर रहे हैं। परंतु पंजाब सरकार इन बैठकों को सुरक्षा मुहैया करवा रही है। संगरूर में भी किसानों ने इसका विरोध किया तो भारी पुलिस बल के दम पर किसानों को रोकने का प्रयास किया गया परंतु किसानों की ताकत के आगे पुलिस का सुरक्षा घेरा भी काम नहीं आ सका।

किसान भाजपा नेताओं को घेराव करने में कामयाब हुए हैं। भाकियू ने भाजपा की ऑनलाइन बैठक को रद्द करवा कर भाजपा नेताओं को घर जाने पर मजबूर किया है। उन्होंने कहा कि भाजपा के किसी प्रोग्राम को नहीं होने दिया जाएगा। उन्होंने आरोप लगाया कि भाजपा और आरएसएस का विरोध करने वालों पर झूठे मामले दर्ज करवाने का प्रयास किया जा रहा है।

कृषि काूनन किसानों को गुलामी से बाहर लेकर आएंगे : राज्यमंत्री कैलाश चौधरी

मीडिया से ऑनलाइन प्रेस कांफ्रेंस करते हुए केन्द्रीय खेतीबाड़ी व जन कल्याण राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि केन्द्र सरकार की ओर से किसानों के पक्ष में बिलों को पास किया गया है। इससे किसान को फसल की बिक्री की आजादी मिलेगी और किसान कहीं भी वाजिब दाम पर अपनी फसल को बेच सकेगा। किसानों को फसल बेचने पर कोई टैक्स नहीं अदा नहीं करना होगा। किसान गुलामी से बाहर आएगा।

उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने धारा 370 हटाने, राम मंदिर बनाने, तीन तलाक समाप्त करने और किसानों को आजादी दिलाने का वादा किया था जिसे पूरा किया है परंत कांग्रेस जानबूझ कर इसका विरोध कर रही है उन्होंने देश की जनता और किसानों को अपील की कि वह विपक्ष के वहकावे में न आए। यदि किसी को शंका है तो इसके भाजपा नेताओं से संपर्क कर शंका को दूर कर सकते हैं।

भाजपा की ऑनलाइन बैठक में किसानों की बजाय पल्लेदार पहुंचे

ऑनलाइन बैठक में पहुंचे जिला निवासी अमरजीत सिंह, हरदीप सिंह और गुरमेल सिंह ने बताया कि वह पल्लेदारी का काम करते हैं। भाजपा की ओर से उन्हें इस बैठक में बुुलाया गया है हालांकि जब उनसे पूछा गया कि उन्हें बैठक के विषय सबंधी कोई जानकारी है तो उन्होंने साफ इनकार कर दिया।

भाजपा को बदनाम करने का प्रयास किया जा रहा : जिला प्रधान दियोल

बैठक में मौजूद भाजपा के जिला प्रधान रणदीप दियोल, का कहना है कि किसानों के घेराव करने के बाद मंत्री चले गए थे। उन्होने कहा कि किसानों की शंकाओं को दूर करने के लिए ऑनलाइन बैठक की थी परंतु किसान अपनी शंकाओं को दूर करने की बजाए भाजपा को बदनाम करने का प्रयास कर रहे हैं।

खबरें और भी हैं...