विरोध:किसान कल फूंकेंगे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा मंत्रियों के पुतले

संगरूरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

दर्शन सिंह कोटड़ा, गुरचरण खोखर, लीला चोटिया व कुलदीप सिंह ने कहा कि एक तरफ तो किसान कृषि कानूनों के लिए दिल्ली की सीमाओं पर डटे हुए हैं वहीं दूसरी तरफ अपनी फसल के रखरखाव के लिए उन्हें सड़कों पर उतरने के लिए मजबूर होना पड़ रहा है। उन्होंने कहा कि 16 अक्टूबर को कृषि कानूनों के विरोध में टैंपो यूनियन के कार्यालय के नजदीक प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी व भाजपा मंत्रियों का पुतला फूंका जाएगा।

इस मौके पर जगदीप सिंह, प्रीतम सिंह, बूटा सिंह, हरप्रीत सिंह, बलजीत कौर, गुरमेल कौर, मनजीत कौर, कर्मजीत कौर, जसविंदर कौर, जशनदीप कौर, बेअंत कौर आदि उपस्थित थे। बता दें कि 8 घंटे बिजली सप्लाई की मांग को लेकर किसान रविवार से एक्सईएन दफ्तर के समक्ष दिन रात के धरने पर बैठे हैं। सोमवार को किसानों ने किसी कर्मचारी को दाखिल नहीं होने दिया था। आश्वासन मिलने पर मंगलवार व बुधवार को कर्मचारियों को नहीं रोका गया परंतु वीरवार को फिर से किसानों ने कार्यालय पर कब्जा जमा लिया।

बेवजह परेशान कर रहे हैं किसान : एसई

इस संबंधी पावरकॉम के एसई रत्न मित्तल ने कहा कि किसानों के आरोप बिल्कुल गलत हैं। दो दिन पहले बिजली को लेकर कुछ दिक्कत थी लेकिन अब पूरी बिजली दी जा रही है। अब बेवजह परेशान किया जा रहा है। प्रशासन को इस सबंधी अवगत करवा दिया गया है।

खबरें और भी हैं...