राहत:पटाखों से दोगुणा बिगड़ी आबोहवा, एक्यूआई 120 से बढ़कर 240 तक पहुंचा

संगरूरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दिवाली पर जिले में कहीं भी नहीं हुई आग लगने की घटना, चार लोगों को आतिशबाजी के कारण मामूली चोटें

दिवाली की रात हुई आतिशबाजी पर्यावरण में कितना जहर घोल सकती है इसकी मिसाल शुक्रवार को देखने को मिली। पटाखे फोड़े जाने के कारण शहर की आबोहवा खराब हो गई है। वीरवार को शहर में एयर क्वालिटी इंडेक्स (एक्यूआई) करीब 120 था, जो दिवाली की रात पटाखे फोड़े जाने के बाद शुक्रवार को दोगुणा होकर 240 तक पहुंच गया।

सरकार के रात 8 से 10 बजे तक पटाखे जलाने के आदेश भी धरे के धरे रह गए। रात 1 बजे तक शहर में आतिशबाजी जारी रही। पुलिस रात 10 बजे के बाद पटाखे चलाने वालों पर दिवाली की रात कोई कार्रवाई नहीं कर सकी। वहीं आतिशबाजी के कारण घायल हुए चार लोग शहर के सिविल अस्पताल में इलाज करवाने के लिए पहुंचे। पिछले कई दिन से जिले भर में पराली को आग लगाई जा रही है। वीरवार को पराली जलने के साथ साथ पटाखों के धुएं ने शहर की आबोहवा खराब कर दी। शुक्रवार शाम करीब साढ़े 4 बजे ही शहर में धुएं की चादर छा गई थी। जिस कारण राहगीरों को काफी परेशानी उठानी पड़ी। एयर क्वालिटी इंडेक्स 140 को औसतन माना जाता है। जिससे कोई नुकसान नहीं होता। परंतु जब एक्यूआई 200 से ऊपर जाना शुरू हो जाता है तो वह सेहत को नुकसान पहुंचाना शुरू कर देता है। 300 से ऊपर का एक्यूआई काफी खराब श्रेणी में आता है।

खबरें और भी हैं...