पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

कोरोना अपडेट:दूसरी लहर में पहली बार 1 की संख्या में मरीज मिला, 144 दिन में 11143 केस

संगरूर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
लापरवाही पड़ सकती है भारी, कोरोना कम होते ही लोग बाजार में बिना मास्क के निकलने लगे हैं। - Dainik Bhaskar
लापरवाही पड़ सकती है भारी, कोरोना कम होते ही लोग बाजार में बिना मास्क के निकलने लगे हैं।
  • संगरूर जिले में एक नया केस मिला, एक्टिव केस 43, अब तक 14748 लोगों ने दिया कोरोना को मात, 865 की जा चुकी है जान

कोरोना संक्रमण मामले में जिले के लिए बुधवार का दिन राहत भरा रहा है। दूसरी लहर में पहली बार जिले में मालेरकोटला ब्लॉक से सिर्फ 1 मरीज पॉजिटिव मिला है। बाकी 11 ब्लॉक संक्रमण से दूर रहे हैं। यह सफर 144 दिन में संभव हुआ है। इससे पहले 21 फरवरी को जिले में 1 मरीज पॉजिटिव पाया गया था।

एक नए मिले मरीज के साथ जिले में 11143 मरीज कोरोना के चपेट में आए। जबकि 659 लोगों की मौत हो चुकी है। दूसरी लहर का आगाज इसी वर्ष 27 फरवरी को हुआ था। इस दिन 37 लोग पॉजिटिव पाए गए थे। जिसके बाद आंकड़ा बढ़ने लगा और 7 मई को सबसे अधिक 296 लोग पॉजिटिव पाए गए थे। 13 मई को एक ही दिन में सबसे अधिक 23 लोगों ने दम तोड़ दिया था। अकेले मई माह में ही कोरोना ने 414 जिंदगी को छीन लिया था। 6009 लोग पॉजिटिव पाए गए थे परंतु अब 144 दिन बाद एक मरीज पॉजिटिव आने से जिले के लोगों को कोरोना से सबसे बड़ी राहत मिली है।

एक्टिव मरीजों की संख्या में 1915 से गिरकर सिर्फ 43 तक आ गई है। संगरूर और मालेरकोटला जिले के 12 ब्लॉकों की बात की जाए तो फतेहगढ़ पंजगराइयां, मूनक और भवानीगढ़ कोरोना मुक्त हो चुके हैं। मालेरकोटला, सुनाम में सिर्फ 1-1 मरीज एक्टिव है। सबसे अधिक कोहरियां ब्लॉक में 9 और संगरूर में 8 मरीज एक्टिव है।

जिले में वर्तमान समय तक 15656 मरीज पॉजिटिव आ चुके है जिसमें 14748 मरीज ठीक हो चुके हैं। बुधवार को भी 6 मरीजों ने कोरोना को मात दी है। डीसी रामवीर ने जिले के लोगों से अपील की कि वह अपने परिवार और समाज की सुरक्षा के लिए टीकाकरण जरूर करवाएं। साथ ही सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें।

तीसरी लहर को रोकने के लिए मास्क अभी भी जरूरी
जिला प्रशासन ओर सेहत विभाग अनुसार भले जिले में कोरोना मरीज की संख्या 1 तक सिमट गई है बावजूद कोरोना प्रोटोकाल को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है। मास्क लगाकर और भीड़ न करके ही तीसरी लहर को रोका जा सकता है। डीसी रामवीर का कहना है कि कोरोना के केसों में कमी जरूर आई है परंतु खतरा अभी टला नहीं है।

इसलिए सावधानियों के प्रति लापरवाह नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा दुनिया भर में कोरोना वायरस के अलग अलग रूप सामने आ रहे है। इसलिए इससे बचाव के लिए सावधानियों की विशेष जरूरत है। जिले में बड़ी संख्या में वैक्सीनेशन की जा चुकी है परंतु वायरस पर मुकम्मल रोक लगाने के लिए टीका जरूरी है।

बरनाला में 2 नए मरीज मिले, एक्टिव केस 21
बरनाला | जिले में बुधवार को कोरोना का 2 मरीज मिले है। जबकि 3 ठीक हुआ। जिले में एक्टिव मरीजों की संख्या 21 है। संक्रमण से अब तक 239 लोगों की मौत हो चुकी है। कुल पॉजिटिव केसों की संख्या 5889 हो गई है, जबकि अब तक 5630 लोग ठीक हुए हैं। कोविड-19 के 10 को उनके घरों में एकांतवास किया गया है।

9 का जिले के बाहर इलाज चल रहा है। वहीं, 2 मरीज का इलाज सेंटर में चल रहा है। अब बरनाला में 6, तपा में 9, धनौला में 5, महलकलां में 1 एक्टिव मरीज हैं। 618 केसों के रिजल्ट पेंडिंग हैं। 24 घंटे में 580 सैंपल लिए गए। कोरोना के केसों में लगातार गिरावट जारी है।

खबरें और भी हैं...