पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

प्रशासन के विरुद्ध धरना देकर भड़ास निकाली:बालियां गांव की सहकारी सोसायटी पर अनिश्चित समय के लिए जड़ा ताला; ग्रामीणों का आरोप-प्रधान और सदस्यों को जबरन थोपा

संगरूर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

3 गांवों के लोगों ने गांव बालियां की सहकारी सोसायटी को अनिश्चित समय के लिए ताला जड़ दिया। आरोप है कि प्रशासन ने सोसायटी का लोकतांत्रिक तरीके से चुनाव न करवाकर प्रधान और सदस्यों को जब्री सोसायटी पर थोप दिया। ऐसे में गुस्साए लोगों ने प्रशासन के विरुद्ध धरना देकर भड़ास निकाली। लोगों ने कहा कि पारदर्शी ढंग से चुनाव होने पर ही सोसायटी का ताला खोला जाएगा। गांव बालियां निवासी हरजीत बालियां, भाकियू

नेता जगतार लड्डी, चमकौर सिंह ने कहा कि सोसायटी का अप्रैल माह में चुनाव रखा गया था परंतु प्रशासन ने सोसायटी का चुनाव न करवा कर इसका प्रशासक लगा दिया था। वह डीआर के पास चुनाव करवाने की अपील कर चुके थे। सोमवार को उन्हें पता चला कि सोसायटी का गुपचुप ढंग से बिना चुनाव के प्रधान और सदस्यों को थोप दिया गया है।

तीन गांवों के लोगों की 11 सदस्यीय कमेटी बनाकर अगले संघर्ष की योजना तैयार की जाएगी

परविंदर सिंह, जगतार रूपाहेड़ी, अमरीक सिंह और कुलदीप सिंह ने कहा कि गांव लड्डी, रूपाहेड़ी और बालियां के लोगों की सुविधा के लिए गांव बालियां में सोसायटी बनाई गई है जिसमें तीनों गांवों के करीब 1100 किसान सदस्य हैं। सोसायटी से किसान खाद, तेल, दवा और खेतीबाड़ी से संबधित अन्य चीजें उधार लेते हैं जिसके पैसे किस्तों में चुकाए जाते हैं। लोगों ने एलान किया कि जब तक पारदर्शी ढंग से चुनाव नहीं किया जाता है उस समय तक सोसायटी का ताला नहीं खोला जाएगा। रोजाना धरना दिया जाएगा। तीनों गांवों के लोगों की 11 सदस्यों की कमेटी बनाकर अगले संघर्ष की योजना तैयार की जाएगी। वहीं सहायक रजिस्ट्रार कुनाल खुराना का कहना है कि नियमों के तहत ही सोसायटी का चुनाव करवाया गया है। यदि लोगों को चुनाव संबंधी एतराज है तो वह डीआर के पास पटिशन डाल सकते हैं।

खबरें और भी हैं...