बैठक:पंजाबी लिखारी सभा में चला रचनाओं का दौर, स्नेहिंदर सिंह मीलू ने ‘रेगिस्तान’ कहानी सुनाई

मंडी गोबिंदगढ़एक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बैठक की अध्यक्षता कर रहे बीबा दीप कुलदीप ने सभी आए लिखारियों का आभार प्रगट किया

पंजाबी लिखारी सभा मंडी गोबिंदगढ़ की मासिक बैठक सरकारी कन्या स्कूल रेलवे रोड में आयोजित की गई। इसमें गुरु गोबिंद सिंह जी के शबद मित्र प्यारे नू हाल मुरीदा दा कहना से आरंभ हुई। बैठक की अध्यक्षता बीबा दीप कुलदीप ने की। रचनाओं के दौरान अवतार सिंह चाने ने धार्मिक गीत, मास्टर अमरजीत सिंह घुडानी, जगजीत सिंह गुरम, दीप कुलदीप, उपकार सिंह दयालपुरी, जसवीर कौर जस्सी, मनजीत सिंह घुमन ने कविता सुनाई। स्नेहिंदर सिंह मीलू ने ‘रेगिस्तान’ कहानी सुनाई। राज सिंह बदोछी ने मिनी कहानी ‘भाई’ सुनाई।

सभा के सरपरस्त सुरजीत सिंह मरजारा ने कहा कि धार्मिक गीत छड़ दे ख्याल सूबे बालां नू चिनाउंन दा, कंधा विच सूरज ते चंद नू छिपाउन दा सुनाया। बैठक में कथाकार तरसेम भंगू गुरदासपुर को उनकी कहानी ‘कादेशन दी मडी’ के लिए प्रथम पुरस्कार के लिए बधाई दी। उपरोक्त लेखकों के अलावा, नरिंदर भाटिया, कुलविंदर सिंह, जतिंदर सिंह रंगरा ने भी अपने विचार व्यक्त किए। बैठक की कार्यवाही का संचालन जगजीत सिंह गुरम और स्नेहिंदर मीलू ने किया। बैठक की अध्यक्षता कर रहे बीबा दीप कुलदीप ने सभी आए लिखारियों का आभार प्रगट किया।

खबरें और भी हैं...