पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

कोविड-19:संगरूर के 32 वर्षीय कोरोना वॉरियर समेत 3 मरीजों ने दम तोड़ा, 10 दिन में 13 की मौत

संगरूर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • संगरूर में 51 नए मरीज, माैतों का अांकड़ा 39 पहुंचा, 600 सैंपलों के नतीजे बाकी

जिले में अगस्त माह में लगातार कोरोना मरीजों की मौत का सिलसिला थमने का नाम नहीं ले रहा है। सोमवार को सेहत विभाग की ओर से तीन कोरोना मरीजों की मौत की पुष्टि की गई है। जिले में ऐसा पहली बार हुआ है जब एक साथ 3 कोरोना मरीजों की मौत सामने आई है। इनमें संगरूर की पुनियां कालोनी का 65 वर्षीय बजुर्ग जसवंत सिंह, मालेरकोटला की 37 वर्षीय महिला सवीता रानी और शेरपुर ब्लॉक का 32 वर्षीय युवक अवतार सिंह शामिल है।

ऐसे में जिले में अब कोरोना मरीजों की मौत का आंकड़ा 39 हो गया है। अगस्त माह की बात की जाए तो 10 दिनों में 13 मरीज दम तोड़ चुके हैं। सबसे अधिक मालेरकोटला ब्लॉक में 18 मौत हुई हैं। उधर, जिले में 51 नए कोरोना मरीज सामने आए हैं। इनमें 3 मरीजों का जिले से बाहर इलाज चल रहा है। सोमवार को पॉजिटिव पाए गए मरीजों में मूनक के गांव खंडेबाद की 24 वर्षीय युवती, 53 वर्षीय व्यक्ति, लौंगोवाल का 52 वर्षीय व्यक्ति, धूरी की 30 वर्षीय युवती, संगरूर की खलीफा स्ट्रीट का 32 वर्षीय युवक, अमरगढ़ के गांव गीगा माजरा का 38 वर्षीय युवक, सूूखेवाल का 25 वर्षीय युवक, भवानीगढ़ के गांव रामपुरा का 24 वर्षीय युवक, गांव नटका का 40 वर्षीय व्यक्ति, भवानीगढ़ का 84 वर्षीय युवक, अहमदगढ़ का 24 वर्षीय युवक, 40 वर्षीय महिला, मालेरकोटला का 58 वर्षीय व्यक्ति, अहमदगढ़ की 36 वर्षीय युवती, धूरी का 40 वर्षीय व्यक्ति, इंदरा बस्ती सुनाम का 23 वर्षीय युवक, 33 वर्षीय युवती, जगतपुरा की 20 वर्षीय युवती, गांव गंढूयां का 34 वर्षीय युवक, सुनाम का 37 वर्षीय युवक, 35 वर्षीय युवती, 9 वर्षीय बच्ची, 35 वर्षीय युवती, 8 वर्षीय बच्चा, गांव खडियाल का 30 वर्षीय युवक, मालेरकोटला का 34 वर्षीय युवक, 47 वर्षीय महिला पॉजिटिव पाए गए हैं। अब जिले में कोरोना मरीजों का आंकड़ा 1355 तक पहुंच गया है। जिसमें 232 मरीज एक्टिव हैं।

मौत-1 : कोरोना वॉरियर की घाबदां कोविड केयर सेंटर में थी ड्यूटी
शेरपुर ब्लॉक के 32 वर्षीय अवतार सिंह शिक्षा विभाग में क्लर्क के पद पर तैनात थे। सरकारी आदेशों पर उसकी ड्यूटी 22 जून से कोविड केयर सैंटर घाबदां में लगाई गई। इस दौरान पॉजिटिव आने पर उन्हें सिविल अस्पताल संगरूर में रखा गया था जहां उनकी मौत हो गई। पीड़ित परिवार और गवर्नमेंट टीचर यूनियन ने प्रशासन से नियमों के अनुसार कोरोना वॉरियर की मौत पर 50 लाख रुपए मुआवजा और परिवार को नौकरी दिए जाने की मांग की गई है।

मौत-2: बेटे की शादी के दिन पिता ने तोड़ा दम, 6 माह पहले कानूनगो पद से हुए थे रिटायर
संगरूर की पुनियां कालोनी निवासी जसबंत सिंह को 8 अगस्त की रात को सेहत बिगड़ने पर पटियाला के राजिन्द्रा अस्पताल में दाखिल करवाया गया था। हालांकि सेहत विभाग के अनुसार उन्हें 7 अगस्त को लक्ष्ण आने शुरू हो गए थे। रविवार की सुबह हार्ट अटैक आने पर उनकी मौत हो गई। मृतक 6 माह पहले ही कानूनगो के पद से रिटायर हुआ था। रविवार को ही मृतक के बेटे की शादी थी। पिता की मौत के कारण परिवार के सदस्यों ने बेटे के सादे ढंग से शादी की रस्मों को निभाना पड़ा है। सेहत विभाग के अनुसार मृतक शूगर और हाई बीपी का मरीज था। मृतक की मौत के बाद रिपोर्ट पॉजिटिव आई है।

मौत-3 : फैक्ट्री में काम करने वाली 37 वर्षीय महिला ने ताेड़ा दम
मालेरकोटला की निजी फैक्ट्री में काम करने वाली 37 वर्षीय सवीता रानी को 8 अगस्त राजिन्द्रा अस्पताल में भर्ती करवाया गया था। जहां सोमवार सुबह उसकी मौत हो गई। सवीता रानी को 6 अगस्त को बुखार हुआ था, जिसके बाद उसे मलेरकोटला अस्पताल लेकर गए थे। वहां से उसे पटियाला रैफर कर दिया गया, जहां उसकी मौत हो गई।

दो दिनों में 100 का आंकड़ा पार
जिले में कोरोना की रफ्तार की बात की जाए तो महज 2 दिनों में ही 100 से अधिक लोग कोरोना की चपेट में आ चुके हैं। 8 अगस्त की शाम को जिले में 1255 मरीज थे, जोकि 10 अगस्त की शाम को बढ़कर 1355 तक पहुंच गए। इसकी रफ्तार और बढ़ सकती है, क्योंकि 600 मरीजों की रिपोर्ट अभी आनी बाकी है।

50 मरीज ठीक होकर घर लौटे
सोमवार को 50 मरीज ठीक होकर घर लौट गए हैं। जिसमें 25 मरीज कोविड केयर सैंटर घाबदां, 4 सिविल अस्पताल संगरूर, 19 होम आ आइसोलेशन और 2 मालेरकोटला सिविल अस्पताल से छुट्टी किए गए हैं। ऐसे में अब जिले में ठीक होने वालों की संख्या भी 1083 हो गई है।
कोरोना अपडेट
कुल सैंपल : 27811, कुल पॉजिटिव : 1355, निगेटिव : 25922, पेंडिंग : 600, ठीक हुए : 1083, नए केस : 51, एक्टिव : 232, कुल माैतें : 39

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज परिवार के साथ किसी धार्मिक स्थल पर जाने का प्रोग्राम बन सकता है। साथ ही आराम तथा आमोद-प्रमोद संबंधी कार्यक्रमों में भी समय व्यतीत होगा। संतान को कोई उपलब्धि मिलने से घर में खुशी भरा माहौल ...

और पढ़ें