पुलिस की कार्रवाई:गैंगस्टर अब्दुल उर्फ घुद्दू के कत्ल केस में भगोड़े 2 आरोपी गिरफ्तार

संगरूर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
संगरूर में मामले की जानकारी देते एसएसपी विवेकशील सोनी।-भास्कर - Dainik Bhaskar
संगरूर में मामले की जानकारी देते एसएसपी विवेकशील सोनी।-भास्कर
  • 4 पिस्तौल .32 बोर, 10 कारतूस व 1 गाड़ी बरामद
  • 15 महीने बाद काबू, एक अन्य साथी भी पकड़ा

15 माह पहले मालेरकोटला में हुए गैंगस्टर अब्दुल रसीद उर्फ घुद्दू के कत्ल केस में भगोड़े चल रहे दो आरोपियों को पुलिस ने उनके एक साथी सहित गिरफ्तार किया है। आरोपियों से 4 देसी पिस्तौल 32 बोर, 10 कारतूस व एक गाड़ी बरामद की गई। 5 माह पहले आरोपियों ने मेरठ में भी एक जिम कोच का कत्ल कर दिया था।

यही नहीं, आरोपियों ने विदेशों में बैठे भगोड़े अपराधियों के साथ संपर्क करके अपना क्रिमिनल नेटवर्क भी स्थापित कर दिया था। आरोपियों की गिरफ्तारी से कई बड़ी घटनाओं का पर्दा उठने की उम्मीद है।

एसएसपी विवेकशील सोनी ने बताया कि सीआईए स्टाफ बहदार सिंह वाला के इंचार्ज सतनाम सिंह को गुप्त सूचना मिली थी कि जगदीप सिंह उर्फ काका निवासी कोटकपुरा, सुखदीप सिंह उर्फ टोनी निवासी कोटकपुरा अपने दोस्त सागर पवार निवासी यूपी के साथ उसकी फॉरच्यूनर गाड़ी में सवार होकर समाना से भवानीगढ़ की तरफ आएंगे।

यदि थमन सिंह वाला नहर के पुल पर योजनाबंद तरीके से नाकाबंदी की जाए तो तीनों आरोपी नाजायद असले समेत काबू आ सकते हैं। जगदीप व सुखदीप सिंह 25 नवंबर 2019 को हुए गैंगस्टर अब्दुल रसीद उर्फ घुद्दू के कत्ल केस में भगौड़ा है।

सूचना के आधार पर पुलिस ने तुरंत नाकाबंदी कर ली, जिसके बाद आरोपियों को नाकाबंदी के दौरान काबू कर लिया गया। आरोपियों से 4 देसी पिस्तौल 32 बोर, 10 कारतूस व एक गाड़ी बरामद की गई। वहीं, एसएसपी ने बताया कि 25 नवंबर 2019 की रात को गैंगस्टर अब्दुल रसीब उर्फ घुद्दू का कत्ल हो गया था, जिसके बाद पुलिस ने गैंगस्टर बूटा खान उर्फ बग्गा खान निवासी तक्खर खुर्द, गैंगस्टर गाहिया खान निवासी मतोई, गैंगस्टर भारत भूषण उर्फ भोला निवासी कोटकपुरा, रजनीश कुमार उर्फ प्रीत निवासी फगवाड़ा, शुभान पहलवान निवासी मालेरकोटला, आसीस निवासी मेरठ को गिरफ्तार कर लिया था, जबकि जगदीप सिंह उर्फ काका व सुखदीप उर्फ टोनी कत्ल केस में मेन शूटर थे, जो कि भगोड़े हो गए थे।

आरोपियों ने 5 माह पहले मेरठ में जिम कोच का भी किया था कत्ल

जगदीप व सुखदीप ने स्थापित कर लिया था क्रिमिनल नेटवर्क

एसएसपी ने बताया कि आरोपियों ने पूछताछ में माना है कि उन्होंने पांच माह पहले परमिंदर कुमार जिम कोच निवासी मेरठ का सैर करते समय गोलियां मारकर कत्ल कर दिया था। इस संबंधी 9 सितंबर 2020 को थाना दोराला (मेरठ) में मामला भी दर्ज किया गया था। जगदीप सिंह व सुखदीप सिंह ने विदेशों में छिपे हुए भगोड़े पेशावार अपराधियों के साथ मिलकर क्रिमिनल नेटवर्क भी स्थापित कर लिया था। रिमांड के दौरान आरोपियों से कई वारदातों से पर्दा उठने की उम्मीद है। उन्होंने बताया कि आरोपी जगदीप पर 2 कत्ल समेत 7, जबकि सुखदीप टोनी पर 2 कत्ल समेत 5 केस दर्ज हैं।

मामले पर एक नजर

गाैर हाे कि 25 नवंबर 2019 की रात को मालेरकोटला में गैंगस्टर अब्दुल रशीद उर्फ घुदू को उसके भाई की शादी की रिशेप्शन पार्टी के दौरान पैलेस के बाहर गोलियां मारकर कत्ल कर दिया गया था। मौके से सभी आरोपी फरार हो गए थे, जिसके पौने तीन घंटे बाद ही बग्गा खान ने अपने फेसबुक अकाउंट पर अब्दुल के कत्ल की जिम्मेवारी ले ली थी। 25 नवंबर की रात 8.15 पर घुद्दू का मर्डर हुआ था। इसके बाद रात 10.59 पर बग्गा खान ने सोशल मीडिया पर मर्डर की जिम्मेदारी ले ली।

बग्गा खान ने सोशल मीडिया पर पोस्ट कर लिखा था कि सलाम वालेएकम जेहडा अज्ज मालेरकोटला घुदू दा मर्डर होया ओह मैं करवाया, एह घुदू तां मारेया ऐहने मेरे जिगरी यार गाहिया दी वाइफ दे पेट विच लत्त मारी सी ओसदा बच्चा मार दित्ता सी, मैं सोह चुक्की सी वी ऐहनू मैं ही मारेया, एह जो मर्डर होया एह मेरे छोटे वीर शुभान भलवान ने मारेया, जे किसे दे दिल विच वहम भुलेखा है ता ओह वी शेती कढ देया गा। थोढा अपना वीर बग्गा खान।

खबरें और भी हैं...