डरना जरूरी:दो वर्षीय बच्ची और 4 डॉक्टर कोरोना पॉजिटिव 92 एक्टिव केस, संगरूर ब्लॉक में 46 संक्रमित

संगरूर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शुक्रवार को चार डॉक्टरों सहित जिले में 43 नए मरीज कोरोना पॉजिटिव पाए गए हैं। जोकि तीसरी लहर में अबतक का सबसे बड़ा आंकड़ा है। 208 दिन बाद ऐसा हुआ है जब कोरोना के मरीजों की संख्या 40 से ऊपर रही हो। इससे पहले 12 जून 2021 को 43 नए केस सामने आए थे। नए मरीजों के साथ ही अब एक्टिव मरीजों का आंकड़ा 92 तक जा पहुंचा है।

एक्टिव मरीजों की संख्या भी 188 दिन बाद 90 से पार हुई हैं। इससे पहले 2 जुलाई 2021 को एक्टिव मरीजों की संख्या 87 थी। नए पॉजिटिव मरीजों में 2 वर्ष की बच्ची से लेकर 72 वर्ष तक का बुजुर्ग शामिल हैं। सिविल अस्पताल के एसएमओ डॉ बलजीत सिंह का कहना है कि इस बार जो लोग पॉजिटिव आ रहे है उनमें से ज्यादातर के गले में दर्द, जुकाम, सूखी खांसी व बुखार के मरीज शामिल हंै।

शुक्रवार को सबसे ज्यादा संगरूर ब्लॉक में 17, सुनाम में 7, लौंगोवाल में 7, धूरी में 6, भवानीगढ़ में 3, मूनक में 1, शेरपुर में 1 और मालेरकोटला में 1 मरीज पॉजिटिव पाया गया है। ऐसे में अब जिले में कोरोना मरीजों की संख्या 15,870 तक जा पहुंची है। जिसमें से 14,902 मरीज ठीक हो चुके हैं। जबकि 876 लोगों की मौत हुई हैं। मौजूद समय में एक्टिव मरीज 92 हैं। इसमें सबसे अधिक संगरूर में 46 मरीज एक्टिव हैं। जिले के सभी 12 ब्लॉकों में से अकेले फतेहगढ़ पंजगराइयां ब्लॉक में कोई मरीज एक्टिव नहीं है। बाकी सभी ब्लॉकों में एक्टिव मरीजों की संख्या में बढ़ोतरी होने लगी है।

एक दिन में 9342 लोगों को लगी कोरोना वैक्सीन

पिछले कई दिन से वैक्सीन की थमी रफ्तार में शुक्रवार को तेजी देखने को मिली है। शुक्रवार को जिले भर में 9342 लोगों को वैक्सीन लगाई गई। जिसमें से 3497 लोगों को पहली और 5845 लोगों को दूसरी डोज लगी। अबतक जिले में 11 लाख 51 हजार 415 लोगों को वैक्सीन लगाई जा चुकी है। जिनमें 8 लाख 4 हजार 958 लोगों को पहली व 3 लाख 46 हजार 456 लोगों को दूसरी डोज लगी है। सेहत विभाग लोगों से अपील कर रहा है कि लोग वैक्सीन के लिए आगे आएं ताकि कोरोना की संभावित तीसरी लहर से बचा जा सके। वैक्सीन के लिए लोगों का उत्साह अच्छा है परंतु शुक्रवार को सुनाम के बाला जी मंदिर में लगे वैक्सीन कैंप के दौरान लोगों की भीड़ उमड़ पड़ी। बिना सोशल डिस्टेंसिंग के लोग वैक्सीन लगवाने के लिए घंटों लाइन में लगे रहे। इस दौरान कई लोगों ने मास्क तक नहीं पहना था जोकि सेहत के लिए नुकसानदेह हो सकता है। राहत की बात यह है कि एक्टिव मरीजों में किसी की भी हालत गंभीर नहीं है। सभी मरीज घर में आइसोलेट है।

खबरें और भी हैं...