यूनाइटेड अकाली दल:बठिंडा से लेकर बहबल कलां तक निकाला मार्च, बेअदबी व बहबल कलां गोलीकांड मामलों में इंसाफ के लिए केसरी मार्च निकाला

बाजाखाना (कोटकपूरा)2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
दबड़ीखाना में केसरी मार्च में भाई नछत्तर सिंह दबड़ीखाना के नेतृत्व में सिख नेताओं को सम्मानित करते गांव के लोग। - Dainik Bhaskar
दबड़ीखाना में केसरी मार्च में भाई नछत्तर सिंह दबड़ीखाना के नेतृत्व में सिख नेताओं को सम्मानित करते गांव के लोग।

अक्टूबर 2015 में हुई श्री गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी और बहबल कलां गोलीकांड मामले में इंसाफ के लिए सोमवार को यूनाइटेड अकाली दल ने बठिंडा से लेकर बहबल कलां तक केसरी मार्च निकाला। मार्च का नेतृत्व भाई गुरदीप सिंह बठिंडा ने किया। बहबल कलां में आयोजित कार्यक्रम के दौरान भाई गुरदीप सिंह ने कहा कि प्रदेश सरकार और केंद्र सरकार सिख समाज से जुड़ी इंसाफ की मांग की अनदेखी कर रही है।

बेअदबी, बहबल कलां गोलीकांड और बंदी सिंहों की रिहाई के लिए सिख संगठन लगातार संघर्ष कर रहे हैं, लेकिन सरकारें इस ओर ध्यान नहीं दे रही हैं। उन्होंने कहा कि बेअदबी और बहबल कलां गोलीकांड मामले में जब तक इंसाफ नहीं मिलता तक तक संघर्ष जारी रहेगा। केसरी मार्च के दबड़ीखाना में पहुंचने पर भाई नछत्तर सिंह दबड़ीखाना के नेतृत्व में स्वागत किया गया और सिख नेताओं और केशधारी बच्चों को सम्मानित किया गया।

इस मार्च में बलजिन्दर सिंह फिरोजपुर, रुपिन्दर सिंह तलवंडी, फेडरेशन अॉफ इंडियन ट्रेड और इंडस्ट्री के प्रधान तरुन जैन, बूटा सिंह, रण सिंह वाला, मनप्रीत सिंह, गुरनाम सिंह, सरबजीत सिंह, हरभजन सिंह दबड़ीखाना, रेशम सिंह, भाई परमजीत सिंह, एकनूर खालसा फौज के प्रमुख बलजीत सिंह गंगा, यूनाइटेड अकाली दल के जतिन्दर सिंह, बाबा चमकौर सिंह, भाई जसविन्दर सिंह घोलिया, यादविन्दर सिंह बराड़, राम सिंह, गुरविन्दर सिंह बराड़, निर्मल सिंह, मेजर सिंह, बूटा सिंह, कुलदीप सिंह, जगसीर सिंह, गुरमीत सिंह, भजन सिंह और अन्य उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...