शहर को जाने वाला रास्ता किया बंद:भाकियू ने हाईवे पर दिया धरना, जाम लगाया, सड़क पर ही बिताई रात

फरीदकोट2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
गांव टहणा के पास नेशनल हाईवे पर जाम लगाकर बैठे किसान। - Dainik Bhaskar
गांव टहणा के पास नेशनल हाईवे पर जाम लगाकर बैठे किसान।

भारतीय किसान यूनियन सिद्धूपुर ने मांगों को लेकर दूसरे दिन भी गांव टहना के पास राष्ट्रीय राजमार्ग 54 पर धरने पर बैठे रहे। किसानों ने रात सड़क पर ही गुजारी। जाम के चलते ट्रक ड्राइवरों को काफी परेशानी उठानी पड़ी, जिसके चलते ट्रक ड्राइवरों ने किसानों के खिलाफ रोष जताया और शहर को जाने वाले रास्ते पर ट्रक लगा दिया।

ट्रक ड्राइवर काला सिंह और धरमपाल ने कहा कि उनके ट्रकों में सीमेंट भरा है वो राजस्थान से चले हैं और उन्हें पठानकोट पहुंचना है। वो कई दिनों से राजस्थान से चले हैं लेकिन अब किसानों के धरने के चलते दो दिन से आगे नहीं बढ़ पा रहे हैं। जिसके रोष के तौर पर उन्होंने शहर को जाने वाले रास्ते और गांव टहना के पास ही दो जगह ट्रक लगा जाम लगा दिया।

इसके बाद कुछ किसान नेता ट्रक ड्राइवरों से मिले और उनकी समस्या यूनियन के प्रांतीय अध्यक्ष के साथ सांझा कर उसका हल करने की बात कही। जिसके बाद उन्होंने शहर वाला रास्ता तो खोल दिया लेकिन गांव टहना के पास जाम लगा था। किसान नेता बोहड़ सिंह रुपिया वाला ने कहा कि पहले डीसी कार्यालय में पांच महीने से अधिक समय से शांतिपूर्ण किसानों की से धरना दिया गया और अब दो दिन से नेशनल हाइवे पर भी धरना दिया जा रहा है।

लेकिन सरकार तक अभी तक किसानों की आवाज नहीं पहुंच रही। किसान आंदोलन में शहीद हुए किसानों के परिजनों को मुआवजा एवं सरकारी नौकरी, जुमला मालकान जमीन के मालिक किसानों को उनके हक दिलाने, गुलाबी सुंडी से क्षतिग्रस्त धान का मुआवजा, किसानों पर पराली के किए पर्चे रद किए जाएं।

इस मौके पर सुखदेव सिंह बूड़ागुजर जिला मुक्तसर साहिब, इंद्रजीत सिंह घनिया जिला महासचिव, निर्मल सिंह, गुरदित्ता सिंह जिला वित्त सचिव, राजिंदर सिंह ब्लॉक अध्यक्ष सादिक, सुखचरण सिंह ब्लॉक अध्यक्ष गोलेवाला, चरणजीत सिंह ब्लॉक अध्यक्ष फरीदकोट, मेजर सिंह ब्लॉक अध्यक्ष बजाखाना, शिंदरपाल सिंह ब्लॉक अध्यक्ष जैतो, सुखमंदर सिंह उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...