सेहत बिगड़ी:मरणव्रत के तीसरे दिन किसान नेता जगजीत सिंह डल्लेवाल की सेहत बिगड़ी, इलाज को किया मना

फरीदकोट2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • डॉक्टरों ने शुगर लेवल घटा व रक्तचाप बढ़ा होने पर जताई तबीयत खराब होने की आशंका

फरीदकोट के गांव टहना में नेशनल हाईवे टी पॉइंट पर किसान नेता जगजीत सिंह डल्लेवाल का चल रहा मरण व्रत तीसरे दिन भी जारी रहा। सेहत विभाग के अधिकारियों की जांच में जगजीत सिंह डल्लेवाल का शुगर लेवल कम व रक्तचाप अधिक मिला। स्वास्थ्य अधिकारियों ने उन्हें इलाज की सलाह दी लेकिन उन्होंने मांगों के समाधान तक मरणव्रत जारी रखने का एलान करते हुए इलाज करवाने से इंकार कर दिया। धरनास्थल पर जगजीत सिंह डल्लेवाल का हाल जानने व उनको मनाने के लिए एसएसपी राजपाल सिंह संधू और एडीसी राजपाल सिंह पांधी पहुंचे लेकिन जगजीत सिंह ने कहा कि जब तक सरकार उनकी बात नहीं मानेगी वह यहां से नहीं हटेंगे।

उन्होंने कहा कि प्रशासन द्वारा उन्हें जबरन मरणव्रत उठाने की कोशिश के कारण अगर माहौल तनावपूर्ण हुआ तो उसकी जिम्मेदारी पंजाब सरकार की होगी। उन्होंने लोगों विशेषकर किसान संगठनों के कार्यकर्ताओं से शांति बनाए रखने की अपील भी की है। जगजीत सिंह ने बताया कि पहले किसानों ने कई महीने शांति से सिविल प्रशासन की दफ्तरों के समक्ष धरना लगाया लेकिन सरकार ने उनकी मांगों प्रति अभी तक मानी गई मांगों की कोई अधिसूचना जारी नहीं की। उसके अलावा मुख्यमंत्री भगवंत मान द्वारा किसानों प्रति भद्दी शब्दावली का इस्तेमाल किया गया जिसके चलते उन्होंने मरणव्रत शुरू किया गया है। धरनास्थल पर पहुंचे हरियाणा के किसान नेताओं ने भी सरकार के व्यवहार को देखते हुए 23 नवंबर को पूरे हरियाणा में ब्लॉक स्तर पर सरकार के पुतले जलाने का एलान किया है। उन्होंने बताया कि संयुक्त किसान गैर राजनीतिक मोर्चा की रात को बैठक होगी, जिसमें आगे की रणनीति पर विचार किया जाएगा। धरने में किसान अपने ट्रैक्टर-ट्रॉलियां लेकर लगातार पहुंच रहे हैं, जिसे देख प्रशासन को धरना गले की फांस बनता दिख रहा है। सिविल, पुलिस व सेहत विभाग लगातार जगजीत सिंह डल्लेवाल पर नजर जमाए हुए हैं और सेहत विभाग की टीमें पल पल उनकी सेहत की जांच कर रही है।

खबरें और भी हैं...