पुण्यतिथि:नगर निगम मेयर विमल ठठई ने कहा- नारी शक्ति की मिसाल थी जगदंबा सरस्वती

अबोहरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

ब्रह्माकुमारीज संस्था की प्रथम मुख्य प्रशासिका जगदंबा सरस्वती की 57वीं पुण्यतिथि स्थानीय राजयोग आश्रम में श्रद्धापूर्वक मनाई गई। केंद्र प्रभारी पुष्पलता बहन ने उनकी याद में ध्यान और योग के लिए विशेष रूप से प्रेरित किया। इस अवसर पर मुख्यातिथि नगर निगम मेयर विमल ठठई ने कहा कि जगदंबा सरस्वती का जीवन बहुत ही सरल और महान था। वे नारी शक्ति की मिसाल थी। उनके शक्ति स्वरूप जीवन के बारे में विस्तार से बताते हुए राजयोग शिक्षिका सुनीता बहन ने कहा कि वे सर्वगुण सम्पन्न थीं।

नारी के रूप में देवी की अवतार थी। उनके प्रत्येक कर्म से मूल्य और व्यवहार दिखता था। उनके आदर्शों पर चलकर हजारों युवा बहनों ने अपने जीवन को इस ईश्वरीय सेवा कार्य में लगाया है। इस मौके पर उप केंद्र प्रभारी दर्शना बहन ने जगदंबा सरस्वती द्वारा नारी शक्ति को दिखाए गए श्रेष्ठ मार्ग के लिए खुद को भाग्यशाली माना और कहा कि हर नारी अगर इनके पदचिन्हों पर चले तो समस्त नारी जाति का उद्धार हो जाएगा। अमृतसर के परिवार से संबंधित जगदंबा सरस्वती को पुष्पांजलि अर्पित करने वालों में गौशाला प्रधान फकीर चंद गोयल, डॉ. अजय मोहन शर्मा, डॉ. रमेश वर्मा, डॉ. दीपाली, डॉ. स्नेह चुघ, डॉ. कंचन खुराना, डॉ. संजय गुप्ता, डॉ. श्वेता खुराना, डा. रितूू गुप्ता, डा. राजिंद्र बांसल, एडवोकेट रमेश शर्मा, शकुंतला सोनी, नंद किशोर व शालू बहन शामिल थे।

खबरें और भी हैं...