7 साल बाद पति और पत्नी फिर हुए एक:अबोहर सबडिवीजन की 3 लोक अदालतों में आए 900 केसों में से 650 का किया निपटारा

अबोहर9 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
अबोहर में लोक अदालत में विवादों का निपटारा करवातीं सीनियर सेशन जज जतिंदर कौर। - Dainik Bhaskar
अबोहर में लोक अदालत में विवादों का निपटारा करवातीं सीनियर सेशन जज जतिंदर कौर।

जिला फाजिल्का की सेशन जज जतिंदर कौर के निर्देशों पर अबोहर सबडिवीजन की तीन अदालतों में लोक अदालत लगाई गई। इनमें करीब 900 अलग-अलग मामले रखे गए। इसमें से लगभग 650 मामलों का मौके पर निपटारा किया गया और साढ़े 6 करोड़ रिकवर किए।

गांव ताजा पट्‌टी निवासी मोहन लाल पूनिया का अपनी पत्नी शांति देवी के साथ करीब 7 साल से विवाद चल रहा था। सीनियर सेशन न्यायाधीश जतिंदर कौर के समक्ष शांति देवी के वकील जयदयाल कांटीवाल और मोहन लाल के वकील राजेश परिहार की मौजूदगी में सुनवाई हुई। अदालत ने दोनों को आमने-सामने बिठाकर समझौता करवाया और 7 साल बाद फिर से दोनों को एक किया।

अबोहर सबडिवीजन के सीनियर न्यायाधीश अनीश गोयल की अदालत में उनके साथ बार एसोसिएशन के प्रधान अमनदीप धालीवाल, समाजसेवी अमित सिडाना की मौजूदगी में लोक अदालत लगाई गई। इसमें 351 के करीब मामले रखे गए, इनमें से 200 के करीब मामलों का निपटारा करवाकर 70 लाख के करीब रिकवरी करवाई गई। उनके साथ न्यायाधीश लखबीर सिंह, महिला न्यायाधीश रूबीना जोसन, न्यायाधीश जसप्रीत कौर की मौजूदगी में लोक अदालत लगाकर लोगों के मामले निपटाए गए।

दूसरी ओर न्यायाधीश राजन अनेजा की अदालत में उनके साथ संजीव गोयल, संजीव बजाज, रीडर विजय गोयल, दविंद्र सिंह, विक्रम सिंह, गौरव, गुरविंद्र सिंह, विजय कुमार मौजूद थे। इनके पास 400 के करीब मामले रखे गए, जिसमें से 260 के करीब मामलों का निपटारा गया और 5 करोड़ रुपए के करीब रिकवरी करवाई गई।

न्यायाधीश अर्जुन सिंह की अदालत में उनके साथ समाजसेवी नर सेवा नारायण सेवा समिति के प्रधान राजू चराया, एडवोकेट किरण शर्मा की मौजूद थे। जिनके पास 190 के मामले रखे गए। इसमें से 95 के करीब मामलों का निपटारा किया और 95 लाख के करीब रिकवरी करवाई गई। इस दौरान लड़ाई-झगड़ों, आपसी विवाद और अन्य मामलों को आमने-सामने बिठाकर सुलझाया गया।

खबरें और भी हैं...