• Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Fazilka
  • Abohar
  • Seven year old Child Sent Back Without Operation, Relatives Complained On Helpline, SMO Said Doctors Did Not Give Information About Bad Machine

सरकारी अस्पताल में ढाई साल से मशीन खराब:सात वर्षीय बच्चे को बिना ऑपरेशन वापस भेजा, परिजनों ने हेल्पलाइन पर शिकायत की, एसएमओ ने कहा- डॉक्टरों ने नहीं दी खराब मशीन की जानकारी

अबोहर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
अबोहर के सिविल अस्पताल बच्चे को ले जाते परिजन। - Dainik Bhaskar
अबोहर के सिविल अस्पताल बच्चे को ले जाते परिजन।

सरकारी अस्पताल में 7 साल के बच्चे की टांग का ऑपरेशन करवाने के लिए उसके परिजन एक हफ्ते से छुट्‌टी पर गए एनेस्थीसिया विशेषज्ञ का इंतजार कर रहे थे। छुट्‌टी से लौटने के बाद एनेस्थीसिया विशेषज्ञ ने 10 साल से कम उम्र के बच्चों को बेहोश करने वाली मशीन पिछले अढ़ाई साल से खराब होने की बात कहकर पल्ला झाड़ दिया।

इसके बाद मजबूरन परिजन बच्चे को ऑपरेशन के लिए निजी अस्पताल ले गए। हालांकि, परिजनों ने हेल्पलाइन नंबर 104 और उच्चाधिकारियों को शिकायत की है। मिली जानकारी के अनुसार इंदिरा नगरी गली नं 4 निवासी सपना रानी ने अपने सात वर्षीय बेटे हरजोत सिंह की टूटी टांग का ऑपरेशन करवाने के लिए अस्पताल भर्ती करवाया। यहां हड्‌डी रोग विशेषज्ञ डा. सम्मान माजी हरजोत का अॉप्रेशन करने को तैयार थे, लेकिन एनेस्थीसिया विशेषज्ञ डॉ. पुनीत लूना छुट्‌टी पर थे।

छुट्‌टी से लौटने के बाद शुक्रवार को डॉ. लूना ने बच्चे को बेहोशी का टीका लगाने से मना कर दिया क्योंकि बच्चों को बेहोश करने वाली मशीन का एक पुर्जा अढ़ाई साल से रिपेयरिंग के लिए भेजा गया था, जो अभी तक वापिस नहीं आया और न ही मशीन को ठीक करवाया गया।

इसके चलते उन्होंने बच्चे को बेहोश करने से मना कर दिया। जिसके चलते मजबूरन परिजन बच्चे को निजी अस्पताल ले गए और डॉक्टर के खिलाफ हेल्पलाइन नं 104 पर शिकायत कर दी गई है। कार्यकारी एसएमओ डॉ. नीरजा गुप्ता ने बताया कि उनके पास परिजनों ने कोई शिकायत नहीं दी है और न ही डॉक्टर ने मशीन खराब होने की आज तक उन्हें जानकारी दी है।

खबरें और भी हैं...