संत जगदीश मुनि ने कहा:दुनिया का हर बच्चा प्रतिभावान, दिव्यांग बच्चों को आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करें

फाजिल्का2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
बच्चों के अभिभावकों को आशीर्वाद देते हुए संत जगदीश मुनि जी। - Dainik Bhaskar
बच्चों के अभिभावकों को आशीर्वाद देते हुए संत जगदीश मुनि जी।

इस दुनिया में बढ़ रही बीमारियों के लिए मनुष्य खुद जिम्मेदार है और इनसे निपटना भी हमें खुद ही है। उक्त उद्गार परम श्रद्धेय संत जगदीश मुनि जी ने स्वस्थ भारत, खुशहाल भारत अभियान के तहत स्वास्थ्य कैंपों की शृंखला में 483वेंं न्यूरो हीलिंग सिस्टम जांच शिविर में उपस्थित संगत को आशीर्वाद वचन देते हुए कहे। संत जगदीश मुनि जी की तरफ से लगाए गए शिविर में इलाज के लिए देश भर से रोगी पहुंचे हैं।

मालूम हो कि संत जगदीश मुनि जी द्वारा न्यूरो हीलिंग सिस्टम से हजारों सीपी रोगी बच्चों (सेरेब्रल पेल्सी, जिसमें जन्म के समय मस्तिष्क को क्षति पहुंची होती है) का सफलतापूर्वक उपचार किया जा चुका है जोकि आज स्वस्थ जीवन व्यतीत कर रहे हैं। इस शिविर में पहुंचे अभिभावकों का हौंसला बढ़ाते हुए संत जगदीश मुनि जी ने कहा कि दुनिया का हर बच्चा प्रतिभावान है और उसमें कोई न कोई विशेष गुण अवश्य ही छिपा है।

लेकिन जरूरत सिर्फ उस गुण व प्रतिभा को पहचानने की है। संत जी ने कहा कि अभिभावकों को कभी निराश नहीं होना चाहिए और अपने बच्चाें को आगे बढ़ने का हौसला देना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह दुनिया अलग अलग सफलताओं व इतिहास से भरी पड़ी है। दिव्यांग बच्चों को भी आगे बढ़ने के लिए प्रेरित करें और उनमें कभी भी नकारात्मकता न भरें।

इस मौके पर निरोग जीवन संस्थान के उत्तराधिकारी पवन मुनि ने बताया कि शिविर में संत जगदीश मुनि जी व उनकी टीम द्वारा बिना दवाई व न्यूरो पद्धति के जरिए 5500 से अधिक रोगियों का उपचार किया जा चुका है। शिविर में गेंहू से एलर्जी व सीपी रोगियों का विशेष रूप से उपचार की व्यवस्था की गई है। शिविर में संत जगदीश मुनि जी की चमत्कारिक चिकित्सा के प्रति लोगों में भारी उत्साह पाया जा रहा है।

खबरें और भी हैं...