थैलेसीमिया जागरुकता सप्ताह:जिला अस्पताल में थैलेसीमिया वार्ड खुला, जागरुकता वर्कशॉप का किया आयोजन

फाजिल्का2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
फाजिल्का के सिविल अस्पताल में वर्कशॉप के दौरान मंच पर बैठे अधिकारी व मौजूद स्टाफ सदस्य। - Dainik Bhaskar
फाजिल्का के सिविल अस्पताल में वर्कशॉप के दौरान मंच पर बैठे अधिकारी व मौजूद स्टाफ सदस्य।

आजादी के अमृत महोत्सव के अंतर्गत सिविल सर्जन फाजिल्का डॉ. तेजवंत ढिल्लों के नेतृत्व में 8 से 14 मई तक थैलेसीमिया जागरुकता सप्ताह मनाया गया। शनिवार को सरकारी अस्पताल फाजिल्का में जागरुकता वर्कशॉप का आयोजन किया गया। वर्कशॉप में डॉ. कविता सिंह डीएफपीओ विशेष तौर पर शामिल हुए। वर्कशाप की शुरुआत करने से पहले सेहत विभाग ने श्री राम सेवा संघ वेलफेयर सोसायटी फाजिल्का के सहयोग से स्पेशल थैलेसीमिया वार्ड का उद्घाटन डॉ. कविता सिंह ने किया।

इस वार्ड को खास कर राजीव कुकरेजा की टीम ने सजाया। आज 5 बच्चों ( दीपक, मानक, नवी, गौरव, मेहुला) को रक्त चढ़ाया गया। सेहत विभाग के मेडिकल और पैरा मेडिकल स्टाफ को थैलेसीमिया के बारे में जानकारी देने के लिए आयोजित की गई वर्कशाप में डॉ. साहिब राम जो सरकारी अस्पताल अबोहर में बच्चों के रोगों के विशेषज्ञ के तौर पर सेवाएं दे रहे हैं, ने स्टाफ को जागरूक करते हुए कहा कि हम सभी जागरूक होकर इस शारीरिक बीमारी का मुकाबला कर सकते हैं। जब भी हमारे पास कोई भी गर्भवती मां या नए विवाहित जोड़े आएं या फिर विवाह योग्य जोड़े आएं तो हम सबसे पहले उन को थैलेसीमिया की जांच कराने के लिए प्रेरित करेंगे।

उन्होंने कहा कि थैलेसीमिया पीड़ित बच्चों का एचबी स्तर हम 9.5 से घटने नहीं देना बल्कि रक्त चढ़ाने के लिए मानसिक तौर पर बच्चे और उसके माता पिता को तैयार करना है। कभी भी थैलेसीमिया वाले बच्चे को आयरन या इसी तरह की एच बी स्तर बढ़ाने वाली दवाइयां नहीं देनीं। डॉ. कविता सिंह ने कहा कि श्रीराम सेवा संघ वेलफेयर सोसायटी रक्त दान कराने और थैलेसीमिया के साथ पीड़ित बच्चों के जीवन को रोशन करन के लिए प्रशंसनीय काम कर रही है।

इस मौके पर डॉ. भूपेन, डॉ. सुमन, डॉ. नवीन, जिला मास मीडिया अधिकारी अनिल धामू, सीनियर एल टी ब्रोडरिक जेम्ज, स्टाफ आशा डोडा, राजीव कुकरेजा, विकास झींझा, गिरधारी सीलग,यशवंत प्रजापति, माणिक डोडा,अनिल छाबड़ा, पूनम और अशोक कम्बोज आदि समेत कई अधिकारी उपस्थित थे।

खबरें और भी हैं...