494वां न्यूरो हीलिंग सिस्टम जांच शिविर आज से:‘न्यूरो हीलिंग सिस्टम पद्धति के जरिये इलाज करवाने से शरीर पर नहीं होता कोई नुकसान’

फाजिल्का14 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
संत जगदीश मुनि। - Dainik Bhaskar
संत जगदीश मुनि।

निरोग जीवन संस्थान के संचालक संत जगदीश मुनि द्वारा स्वस्थ्य भारत, खुशहाल भारत अभियान के तहत स्वास्थ्य कैंपों की शृंखला में 494वां न्यूरो हीलिंग सिस्टम जांच शिविर अबोहर रोड़, गुप्ता गैस गोदाम के सामने गली स्थित फाजिल्का आश्रम में 26 जनवरी से लगाया जा रहा है। यह कैंप 15 दिनों का होगा और 10 फरवरी तक चलेगा।

निरोग जीवन संस्थान के उत्तराधिकारी पवन मुनि ने बताया कि शिविर में संत जगदीश मुनि व उनकी टीम द्वारा बिना दवाई रेकी व न्यूरो पद्धति के जरिए रोगियों का उपचार किया जाएगा। कैंप में प्रतिदिन प्रात: 8 से दोपहर 12 व सायं 2 से सायं 6 बजे तक रोगियों की निशुल्क जांच की जाएगी। जानकारी अनुसार इस कैंप में सिरदर्द, माइग्रेन, डिप्रैशन, सरवाइकल, कमर दर्द, घुटने व कंधे का दर्द, आंख, नाक, कान, गले व पेट संबंधी आदि रोगों का उपचार किया जाएगा। शिविर में रोगियों का इलाज न्यूरो हीलिंग पद्धति से किया जाएगा।

इस कैंप में रोगियों को सुबह 7 से 8 बजे तक योगा व मेडिटेशन करवाया जाएगा। शिविर में गेंहूं से एलर्जी व सीपी रोगियों का विशेष रूप से उपचार किया जाएगा। शिविर में अलग अलग रोगों का पांच दिन में इलाज किया जाएगा और इस इलाज पद्धति में किसी प्रकार की दवाई का इस्तेमाल नहीं किया जाएगा बल्कि प्राकृतिक चिकित्सा के जरिये सभी रोगों का उपचार होगा।

इस मौके पर परम श्रद्धेय संत जगदीश मुनि महाराज ने कहा कि न्यूरो हीलिंग सिस्टम पद्धति ने साबित कर दिया है कि प्राकृतिक चिकित्सा में बीमारी को जड़ से खत्म करने की शक्ति है और इसी वजह से प्राकृतिक चिकित्सा के जरिये सार्थक परिणाम सामने आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि न्यूरो हीलिंग सिस्टम पद्धति के जरिये इलाज करवाने पर शरीर पर कोई नुकसान नहीं पड़ता।

खबरें और भी हैं...