जागरुकता कार्यक्रम:मौसमी बीमारियों के बारे में स्कूलों में जागरुकता कार्यक्रम करवाया, उपचार के लिए प्रयोग किए जाते ढंगों के बारे प्रकाश डाला

मुक्तसर17 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • विभिन्न सेमिनार दौरान सेहत कर्मियों ने मलेरिया बुखार की पहचान चिन्हों व इसके उपचार के लिए प्रयोग किए जाते ढंगों के बारे प्रकाश डाला

सीनियर मेडिकल अधिकारी चक शेरेवाला डॉ. कुलतार सिंह की अध्यक्षता में ब्लॉक में मलेरिया व डेंगू जैसी खतरनाक मौसमी बीमारियों के बारे जागरूकता सेमिनार विभिन्न स्कूलों में करवाए गए। इस के बारे जानकारी देते हुए डॉ. कुलतार सिंह ने कहा कि डेंगू व मलेरिया से बचने के लिए सबसे कारागार हथियार इस संबंधी जागरूकता हैं। विभिन्न सेमिनार दौरान सेहत कर्मियों ने मलेरिया बुखार की पहचान चिन्हों व इसके उपचार के लिए प्रयोग किए जाते ढंगों के बारे प्रकाश डाला।

सेहत कर्मी एसआई सुखविंदर सिंह, हेल्थ वर्कर राजविंदर सिंह, गुरभगत सिंह, गुरमीत सिंह, गुरपिंद्र सिंह, जुगराज सिंह आदि ने इस दौरान बताया कि मलेरिया वाला मच्छर ज्यादातर रात के समय काटता हैं व यह लंबे समय खड़े हुए पानी व छप्पड़ों आदि में पैदा होता हैं। इस अवसर पर कुलविंदर सिंह व जगसीर सिंह लोगों को मच्छर से बचाओ के विभिन्न ढंगों के बारे में जानकारी दी।

खबरें और भी हैं...