विरोध:शव अस्पताल के गेट के समक्ष रख किया प्रदर्शन

फिरोजपुर19 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
शव को अस्पताल के गेट के समक्ष रखकर धरना लगाकर बैठे परिजन। - Dainik Bhaskar
शव को अस्पताल के गेट के समक्ष रखकर धरना लगाकर बैठे परिजन।

शनिवार शाम को शहर के एक निजी अस्पताल के बाहर महिला का शव रखकर परिजनों ने धरना प्रदर्शन किया। परिजनों ने आरोप लगाया कि अस्पताल में महिला की डिलीवरी के दौरान डॉक्टरों ने लापरवाही की है। इसके चलते महिला की मौत हुई है। मृतक महिला की पहले से 3 बच्चियां हैं और अभी उसने एक और बच्ची को जन्म दिया है। मृतक महिला के मामा महल सिंह व मां ने कहा कि 30 अगस्त को वह उक्त अस्पताल में अपनी बेटी वीरपाल कुमार पुत्री महेंद्र सिंह को डिलीवरी के लिए लेकर गए थे। वहां ऑपरेशन से महिला ने बच्ची को जन्म दिया व उसके बाद उसे यूरीन में प्रॉब्लम हो रही थी।

इसके चलते वह वीरपाल को फरीदकोट मेडिकल कॉलेज में उपचार के लिए ले गए थे। जहां उपचार के दौरान शनिवार को उसकी मौत हो गई। उन्होंने आरोप लगाते हुए कहा कि महिला की मौत डॉक्टर की लापरवाही से हुई है। आरोप है कि अस्पताल कर्मियों ने ऑपरेशन करते समय महिला की कोई नस काट दी थी। जिसके चलते डॉक्टर पर कार्रवाई की जाए। इसके चलते उन्होंने शव को अस्पताल के बाहर रखकर धरना लगाया। वहीं मौके पर पहुंचे पुलिस अधिकारियों ने परिजनों को शांत करवाया व उन्हें जांच कर कार्रवाई का भरोसा दिया। करीब ढाई घंटे तक लगे धरने के बाद परिजनों को कार्रवाई का आश्वासन देकर धरना खत्म करवाया गया।

वहीं अस्पताल के डायरेक्टर सुबोध कक्कड़ से बात करने पर उन्होंने कहा कि अस्पताल में कुछ दिन पहले गर्भवती महिला को डिलीवरी के लिए उक्त लोग लेकर वहां आए थे जहां उनका ऑपरेशन हुआ और बच्ची ने जन्म लिया। इसके बाद परिजन अपनी मर्जी से मरीज को फरीदकोट मेडिकल कॉलेज में लेकर गए वहां मरीज की मौत हुई है। इसके बारे में उन्हें जानकारी नहीं है। परिजनों से उनकी बात हुई है उन्हें पूरी बात बता दी गई है। पुलिस कर्मी जंग सिंह ने बताया मृतक महिला के परिजनों का आरोप है कि डॉक्टर की लापरवाही के चलते महिला की मौत हुई है। इस बारे में पुलिस जांच कर रही है इसके बाद ही कार्रवाई की जाएगी।

खबरें और भी हैं...