अब नहीं घूमते लोग, लाइब्रेरी में करते हैं पढ़ाई:जिले के 278 पंचायतों में खोले गए पुस्तकालयों का दिखने लगा सकारात्मक असर

हाजीपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
पुस्तकालय की जांच करने पहुंचे अधिकारी। - Dainik Bhaskar
पुस्तकालय की जांच करने पहुंचे अधिकारी।

वैशाली जिला के सभी 278 ग्राम पंचायतों में पुस्तकालय खोलने की योजना का काफी असर दिख रहा है। अब हर दिन दोपहर एवं शाम में पंचायत के लोग जो इधर उधर बेकार बैठे रहते थे अब वे पुस्तकालय में बैठकर ज्ञानवर्द्धक पुस्तकों का अध्ययन कर रहे हैं।

पुस्तकालय में उपलब्ध पुस्तकों में कई ज्ञान बढ़ाने वाली कहानियों की पुस्तक, रेलवे, एसएससी और विभिन्न प्रकार की प्रतियोगी परीक्षा एवं विभिन्न कक्षाओं की पुस्तकें, कई महापुरूष के जीवनी पर आधारित पुस्तक एवं सामान्य ज्ञान को बढ़ाने वाली पुस्तकें हैं।

डीएम यशपाल मीणा ने अपनी पदस्थापना के कुछ महीनों बाद ही इस योजना को धरातल पर लाने के लिए अथक प्रयास किया था तो किसी को इस बात का अंदाजा नहीं था की यह योजना धरातल पर इस तरह से मूर्त रूप लेगी। लेकिन महज तीन महीनें में सभी ग्राम पंचायतों में इस योजना का सफल संचालन किया गया।

हर पंचायत में शुरू हुआ पुस्तकालय

इस योजना अंतर्गत हर पंचायत में पुस्तकालय के लिए पंचायत भवन एवं अन्य सरकारी भवनों में एक कमरा उपलब्ध कराया, जिसमें पुस्तकालय की सभी पुस्तकें रखी गई ताकि स्थानीय लोग जाकर इन पुस्तकों को वहीं पढ़ पाऐंगे। ज्ञात हो कि जिस तरह लोग मोबाइल से चिपके रहते थे अब इन पुस्तकालयों के खुलने से लोग पुस्तकों को पढऩे लगे हैं।

ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा के लिए यह सशक्त माध्यम

ग्राम पंचायत स्तर पर सामुदायिक पुस्तकालय निर्माण का मुख्य उद्देश्य शिक्षा क्षेत्र में प्रगति लाना। ग्रामीण क्षेत्रों में शिक्षा के लिए यह एक सशक्त माध्यम है। इस योजना से विशेषकर युवा वर्ग प्रभावित होकर अच्छे रास्ते पर चल सके, गलत रास्ते को त्यागें। पूर्व में ही डीएम ने कहा था कि सामुदायिक पुस्तकालय शिक्षा की ओर एक अच्छी शुरूआत है, इसे डीआरसीसी से जोड़कर बड़े पैमाने पर युवा वर्ग को लाभ मिलेगा। इसके माध्यम से क्वीज, वाद-विवाद, पुलिस भर्ती, रेलवे, बैंकिंग, बीपीएससी, यूपीएससी जैसे प्रतियोगिता के लिए युवा वर्ग को तैयार किया जायेगा।

किताब दान को लेकर जागरूक करने का निर्देश

डीएम ने बताया कि वैसे सक्रिय युवा जो गैर वित्तीय रूप से इस अभियान में शामिल हो सकते हैं वह आगे आकर इसमें योगदान कर सकते हैं। सभी जनप्रतिनिधियों से भी अभियान किताब दान को लेकर जागरूकता फैलाने का निर्देश दिया। साथ ही आम लोगों से भी अभियान के तहत किताब दान करने की अपील की।

खबरें और भी हैं...