जेल में कैदियों की फैमिली मीट:3 कैदियों को मिला अपने परिवार से रूबरू मिलने का मौका, इससे अन्य कैदी व हवालाती भी अपने आचरण को साफ करने को प्रोत्साहित होंगे

होशियारपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • होशियारपुर में सीजेएम अपराजिता जोशी ने फैमिली मीट का उद्घाटन किया

सूबे की 10 केंद्रीय व 15 जिला व सब जिला जेलों में कैदियों और हवालातियों के लिए सरकार द्वारा नई पहल की जा रही है। इसमें अच्छे आचरण वाले कैदियों को 1 घंटे के लिए अपने परिवार 5 सदस्यों से रूबरू बात करने का मौका दिया गया। होशियारपुर में सीजेएम अपराजिता जोशी ने फैमिली मीट का उद्घाटन किया। केंद्रीय जेल के सुपरिटेंडेंट अनुराग कुमार आजाद ने कहा कि इससे अन्य कैदी व हवालाती भी अपने आचरण को साफ करने को प्रोत्साहित होंगे।

उन्होंने बताया कि पहले कैदियों और हवालातियों के साथ उनके परिवार के 2 सदस्य ही मुलाकात कर सकते थे, जिसमे उनके बीच एक जाली होती थी। अब वे अपने परिवार वालों के साथ रूबरू बैठकर मुलाकात कर पाए। उन्होंने बताया कि मुलाकात करने वालों को सिर्फ बातचीत करने की मंजूरी होगी न कि कैदियों और हवालातियों को कोई खाने-पीने या अन्य कोई और वस्तु देने की। यह मुलाकात 1 घंटे की होगी जबकि पहले कुछ मिनट ही मुलाकात का समय होता था। पहले कैदियों व हवालातियों के साथ मुलाकात करने के लिए दादा-दादी, माता-पिता, पति-पत्नी व बच्चे ही शामिल हो सकते थे, लेकिन अब अगर इनमें से किसी सदस्य की मौत हो चुकी हो तो वह अन्य रिश्तेदार को साथ ला सकते हैं। कैदी या हवालाती जेल प्रशासन को अर्जी देकर परिवार के जिन 5 सदस्यों का नाम देगा, उनको ही मुलाकात की मंजूरी होगी।

खबरें और भी हैं...