जागरूकता:डेंगू लारवे की घर-घर जाकर की जांच, गांव चंदेआणी खुर्द में लोगों को डेंगू व मलेरिया के प्रति किया जागरूक

बलाचौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • इस मौके पर सुनील, निशा रानाी, आशा वर्कर मनजीत कौर, ममता रानी, ब्रीडिंग चैकर कुलदीप सिंह मौजूद रहे

गांव चंदेआणी खुर्द में सड़ोआ पीएचसी के एसएमओ डाॅ. गुरिंदरजीत की अगुवाई में डेंगू बचाव विषय पर जागरूकता कैंप लगाया गया। इसमें हेल्थ इंस्पेक्टर गुरिंदर सिंह व आदर्श कुमार पर आधारित टीम द्वारा घर-घर जाकर डेंगू के लारवे की जांच की गई। जिन घरों में लारवा पाया गया, उसे लारवीसाइट स्प्रे से नष्ट किया गया। लोगों को संबोधित करते हुए गुरिंदर सिंह ने कहा कि डेंगू बुखार मादा एडीज एजिप्टी नाम के मच्छर के काटने से फैलता है। यह मच्छर साफ खड़े पानी के स्त्रोतों में पैदा होता है और यह ज्यादातर सुबह व शाम के समय काटता है।

उन्होंने बताया कि तेज बुखार, सिर दर्द, आंखों के पिछले हिस्से में दर्द, जी मचलाना तथा उल्टियां आना, थकावट महसूस होना तथा हालत खराब होने पर नाक, मुंह व मसूड़ों से खून बहना इस बीमारी के लक्षण हैं। इस बीमारी से बचाव के लिए हमें कूलरों, गमलों तथा फ्रिज की ट्रे में खड़े पानी को सप्ताह में एक बार जरूर साफ करना चाहिए। रात के समय पूरी बाजू के कपड़े पहनें। बुखार होने पर समीपवर्ती सरकारी अस्पताल में संपर्क करें। इस मौके पर सुनील, निशा रानाी, आशा वर्कर मनजीत कौर, ममता रानी, ब्रीडिंग चैकर कुलदीप सिंह मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...