लोगों में मायूसी / सेहत विभाग ने गांवों में बंद की मोबाइल बस सेवा, लोग महंगे इलाज को मजबूर

Health department shut down mobile bus service in villages, people forced expensive treatment
X
Health department shut down mobile bus service in villages, people forced expensive treatment

  • बोले- मुश्किल घड़ी में मोबाइल बस बंद होने से बढ़ी परेशानियां

दैनिक भास्कर

May 24, 2020, 08:06 AM IST

बलाचौर. कोरोना वायरस के फैलाव को रोकने के लिए लागू लॉकडाउन में सेहत विभाग अग्रणी कतार में रहकर प्रशंसनीय भूमिका निभा रहा है, मगर दूसरी तरफ सेहत विभाग ने ग्रामीण लोगों को स्वास्थ्य सेवाएं देने वाली मोबाइल मेडिकल बस बंद किए जाने से लोगों को प्राइवेट अस्पतालों में महंगे इलाज करवाने के लिए मजबूर कर दिया है। 
बता दें कि सेहत विभाग नवांशहर की मोबाइल मेडिकल बस में मेडिकल अधिकारी, रेडियोग्राफर, लैब टेक्निशियन, स्टाफ नर्स, सहायक व ड्राइवर मौजूद रहते हैं। जिनकी ओर से लोगों को मुफ्त एक्सरे व दवाएं दी जाती हैं और लोगों को इस सेवा का काफी लाभ मिलता है।

लोगों के अनुसार यह मोबाइल बस सेहत विभाग की हिदायत के अनुसार गांवों के गरीब लोगों को मुफ्त सेहत सुविधाएं प्रदान करने के लिए चलाई गई थी, जिसका खास करके बुजुर्ग, चलने-फिरने में लाचार और बच्चों को अधिक लाभ मिलता था, लेकिन इस मुश्किल घड़ी में इस बस सेवा को बंद करके पहले से ही आर्थिक तंगी का सामना करने वाले लोगों के सामने परेशानियां खड़ी हो गई हैं। लोगों ने सेहत विभाग के अधिकारियों से अपील की है कि मेडिकल सुविधाओं से लैस इस बस सेवा को फिर से चलाया जाए ताकि लोग इसका लाभ मिल सके। 

आज का राशिफल

पाएं अपना तीनों तरह का राशिफल, रोजाना