मीटिंग:हाई रिस्क वाली गर्भवतियों का इलाज पहल के आधार पर किया जाए ताकि प्रसूति में न आए कोई परेशानी

बलाचौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सिविल अस्पताल में सेहत अधिकारियों व कर्मचारियों ने की विशेष बैठक

स्थानीय लेफ्टिनेंट जनरल बिक्रम सिंह मेमोरियल सिविल अस्पताल में एसएमओ डॉ. कुलविंदर मान की अगुआई में सेहत अधिकारियों व कर्मचारियों की विशेष बैठक का आयोजन किया गया। उन्होंने फील्ड स्टाफ को हिदायतें जारी करते हुए कहा कि कहा कि हर राष्ट्रीय और प्रदेश सेहत प्रोग्राम के दिशानिर्देश के तहत लोगों को जागरूक किया जाए, ताकि लोग इन स्कीमों का अधिक से अधिक लाभ ले सकें।

कोविड-19 के साथ-साथ सभी सेहत प्रोग्रामों को सुचारू ढंग से चलाया जाए और उनकी प्रगति रिपोर्ट समय पर भेजना यकीनी बनाया जाए। गर्भवतियों की रजिस्ट्रेशन समय पर करना यकीनी बनाया जाए। मातृत्व मौत दर घटाने के लिए गर्भवती महिला की समय पर 100 फीसदी रजिस्ट्रेशन, चार एएनसी चेकअप और संस्थागत प्रसूति करवाना यकीनी बनाया जाए। उन्होंने अधिकारियों को हिदायतें दीं कि उच्च जोखिम वाली गर्भवतियों की पहचान करके उनका इलाज पहल के आधार पर शुरू किया जाए, ताकि प्रसूती के दौरान किसी तरह की समस्या पेश न आए।

कोरोना की संभावित तीसरी लहर को रोकने के लिए अधिक से अधिक लोगों की रैंडम सैंपलिंग की जाए
एसएमओ डॉ. मान ने कहा कि कोरोना की संभावित तीसरी लहर को रोकने के लिए अधिक से अधिक लोगों की रैंडम सैंपलिंग की जाए। दुकानदारों और दुकानों पर काम करने वाले कारिंदों, रिक्शा चालकों, खाद्य पदार्थ तथा दूध आदि डिलीवर करने वाले लोगों, ऑटो रिक्शा चालकों की पहल के आधार पर रैंडम सैंपलिंग करवाई जाए, क्योंकि तीसरी लहर में वे संभावित कैरियर बन सकते हैं। इसके अलावा जिस क्षेत्र में कोचिंग सेंटर और अन्य शैक्षणिक संस्थाएं आदि खुल गए हैं, वहां के स्टाफ को दोनों और विद्यार्थियों को कम से कम एक टीका लगा होना चाहिए। बैठक में ब्लॉक एक्सटेंशन एजुकेटर निर्मल सिंह सहित अन्य सेहत कर्मचारी भी मौजूद रहे।

खबरें और भी हैं...