ठगी करने का प्रयास:बैंक से बोल रहा हूं, सोने की अंगूठी चाहिए, जांच में झूठा निकला, लेने आए व्यक्ति को पकड़वाया

बलाचौर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • बंगा में ठगी करने वाले ने बलाचौर में किया प्रयास, ज्वेलर को कॉल की

शहर के एक मशहूर ज्वेलर के बेटे ने अपनी सूझबूझ दिखाते हुए न सिर्फ नौसरबाज के ठगी के प्लान को विफल कर दिया, बल्कि इस ठगी में प्रयोग की गई कार के चालक को भी पुलिस तक पहुंचा दिया। हालांकि नौसरबाज ने बंगा व नवांशहर की तर्ज पर ही ठगी को अंजाम देने के लिए कार को ऑनलाइन बुक किया था। बता दें कि पिछले दिनों नवांशहर में एसी ठगने के लिए ऐसी ही कोशिश हुई थी, जबकि उसके दो दिन बाद कस्बा बंगा में सुनार को इसी तर्ज पर ठग लिया गया था।

नौसरबाज ने व्हाटसअप कॉल से किया था संपर्क
ज्वेलर चंदन वर्मा ने बताया कि उन्हें उनके मोबाइल के व्हाटसअप पर कॉल आई। कॉल करने वाले ने कहा कि वह एसबीआई का कर्मचारी है और वह उनसे सोने की अंगूठियां खरीदना चाहता है। जिस पर चंदन वर्मा ने उसे फोटो भेज दीं। व्यक्ति ने चंदन वर्मा से दो अंगूठियों की कीमत पूछकर इन्हें एसबीआई शाखा में पहुंचाकर उससे पेमेंट ले जाने की बात कही। चंदन ने उसे अपने बेटे भवेश वर्मा का फोन नंबर दे दिया।

चंदन ने भवेश से कहा कि इन अंगूठियों को एसबीआई शाखा में जाकर उस बैंक कर्मचारी को देना है। उस व्यक्ति ने भवेश को फोन करके कहा कि बैंक के बाहर एक कार खड़ी है, उसे अंगूठियां और बिल देेकर बैंक के अंदर आकर पैसे ले जाए। भवेश ने इन अंगूठियों को कार चालक को नहीं दिया और खुद बैंक में जाकर कॉल करने वाले के संबंध में जानकारी लेने चला गया। बैंक कर्मचारियों ने कहा कि ऐसा कोई भी व्यक्ति बैंक में काम नहीं करता।

जिस पर भवेश ने बाहर आकर कार की चाबी निकाल ली और खुद दुकान पर आकर अपने पिता चंदन वर्मा को पूरी घटना की जानकारी दी। इसके बाद वह मौके पर पहुंचे और कार चालक को पुलिस के हवाले करवाया। उधर, एसएचओ गुरमीत सिंह ने कहा कि कार चालक ने पूछताछ में बताया है कि वह नवांशहर के टैक्सी स्टैंड से संबंधित है और उसे एक व्यक्ति का फोन आया था, जिसके बाद वह बलाचौर आया था। मामले की जांच की जा रही है।

खबरें और भी हैं...