पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

रोष व्यक्त किया:सरकार को जगाने के लिए लोगों ने टूटी सड़कों पर खड़े पानी में लगाया धान

बलाचौर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

बलाचौर के गांव गहूंण को जाने वाले मार्ग की खराब हालात को लेकर बुधवार को गांववासियों की ओर से रोष व्यक्त किया गया। हालात ये हैं कि गांव की सड़कें सालों से टूटी हुई हैं तथा एक दिन बारिश होने के बाद कई-कई दिन पानी खड़ा रहता है। सरकार व प्रशासन को जगाने के लिए गांव के लोगों ने प्रदर्शन के दौरान टूटी सड़क पर पिछले लंबे समय से खड़े पानी में धान के पौधे लगाए तथा कहा कि पिछले साढ़े 4 वर्ष में उनके गांव की सड़क के हालात नहीं सुधरे।

उन्होंने कहा कि अकाली सरकार के जाने के बाद कांग्रेस सरकार आ गई, लेकिन गांव के हालात पहले जैसे ही हैं। बरसात के दिनों में इस सड़क से गुजरना बेहद मुश्किल हो जाता है तथा आए दिन इन टूटी सड़कों व गलियों में लोग गिरते ही दिखाई देते हैं। इस दौरान लोगों ने विभिन्न राजनीतिक पार्टियों की ओर से अपने प्रचार के लिए लगाए गए बोर्ड भी उतारे तथा कहा कि जब तक उनकी समस्याओं का समाधान नहीं होगा, वे किसी भी दल का प्रचार नहीं करने देंगे।

इस मौके पर सरपंच गुरमुख सिंह, महिंदर सिंह, नच्छतर सिंह, सुरिंदर सिंह, हरविंदर सिंह, निर्मल सिंह, हरप्रीत, जसवंत सिंह, रमनदीप, चरणदीप सिंह, सुखविंदर सिंह, मनप्रीत सिंह, परमजीत सिंह, अमृत पाल सिंह, हरप्रीत सिंह, बलकार सिंह, गुरप्रीत सिंह, सुखदेव सिंह, परविंदर, समनदीप सिंह आदि ने गांव को जाने वाले मार्ग के निर्माण न होने पर रोष व्यक्त किया।

खबरें और भी हैं...