पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

रोड जाम:ब्यास पुल के पास धरने से दूसरे जिलों में जाने वालों को हुई परेशानी, यहां से रोज 80 हजार लोग गुजरते हैं

श्री हरगोबिंदपुर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
कृषि ऑर्डिनेंस और बिजली बिल 2020 को रद्द करने की मांग को लेकर रोड जाम कर सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते किसान और मजदूर।
  • कृषि ऑर्डिनेंस के खिलाफ किसानों ने श्री हरगोबिंदपुर-टांडा मार्ग रोका
  • किसानों की चेतावनीः अगर कृषि ऑर्डिनेंस रद्द न किया गया तो संघर्ष किया जाएगा तेज

देश की 250 किसान जत्थेबंदिया और भारतीय किसान यूनियन एकता उगराहां के आह्वान पर किसान मजदूर संघर्ष कमेटी पंजाब की ओर से श्री हरगोबिंदपुर-टांडा मार्ग पर बने ब्यास दरिया के पुल के पास चक्का जाम किया गया। इस दौरान किसानों ने नारेबाजी कर केंद्र व सूबा सरकार के खिलाफ रोष जताया।

धरने की अगुवाई कुलदीप सिंह, गुरप्रीत सिंह, रणजीत सिंह, रणबीर सिंह, गुरप्रताप सिंह ने की। धरने के दौरान आवाजाई बंद रही, जिस कारण जाम की स्थिति भी उत्पन्न हो गई। ब्यास पुल के पास चक्का जाम होने से लोगों को काफी परेशानी का समाना करना पड़ा। इस पुल से रोजाना अमृतसर, गुरदासपुर, जालंधर, बाबा बकाला, लुधियाना तरनतारन, बटाला, होशियारपुर और हिमाचल प्रदेश के लिए 80 हजार के करीब लोग गुजरते हैं। चक्का जाम होने से लोगों कई किलोमीटर घूमकर अपनी मंजिल पर जाना पड़ा।

किसान नेताओं ने कहा कि अगर सरकार ने उनकी मांगों की ओर ध्यान न दिया तो संघर्ष तेज किया जाएगा। वहीं उनका यह प्रदर्शन तब तक जारी रहेगा, जब तक सरकार की तरफ से कोई आश्वासन नहीं मिलता। यहां कश्मीर सिंह, हरविंदर सिंह, गुरजीत सिंह, सुखदेव सिंह, संतोख सिंह, जसबीर सिंह, गुरविंदर बाजवा, सुरजीत सिंह, परमिंदर सिंह, हरदीप सिंह, जगमोहन दीप सिंह मौजूद रहे।

लोग हुए परेशान }कई किलोमीटर घूमकर अपनी मंजिल पर पहुंचे
राहगीर बिट्‌टू निवासी श्री हरगोबिंदपुर ने बताया कि वह सोमवार सुबह किसी काम से कार पर जालंधर गया हुआ था। जब वह वापस आया तो रास्ते में श्री हरगोबिंदपुर-टांडा मार्ग पर किसानों के लगे धरने के कारण जाम लगा हुआ मिला। इस कारण वह वहां से कपूरथला, गोईंदवाल साहिब, रईय्या, सठियाला बुताला से होते हुए श्री हरगोबिंदपुर पहुंचा। उसे करीब 50 किलोमीटर ज्यादा रास्ता श्री हरगोबिंदपुर पहुंचे के लिए तय करना पड़ा।

इसी तरह, परमदीप निवासी होशियारपुर ने बताया कि वह अपनी कार पर तरनतारन से अपने घर को होशियारपुर को जा रहे थे। लेकिन धरने के कारण वह 4 घंटे इंतजार करते रहे, लेकिन रास्ता नहीं मिला। वहीं, गोल्डी निवासी होशियारपुर ने बताया कि वह बाबा बकाला साहिब में नौकरी करता है। वह अपने मोटरसाइकिल पर होशियारपुर को जा रहा था। लेकिन ब्यास पुल पर लगे धरने के कारण वह ढाई घंटे से यहां पर खड़ा रहा। लेकिन धरना न खत्म होता देख वह दसूहा, मुकेरियां से होते हुए होशियारपुर गया।

ये हैं किसानों की मांगें
जत्थेबंदी के राज्य नेता सविंदर सिंह, कुलबीर सिंह, सविंदर सिंह रुपोवाली, बख्शीश सिंह, परमजीत सिंह, सोहन सिंह, हरजीत सिंह ने कहा कि केंद्र ने देश के जनतक विभागों को कार्पोरेट घरानों को बेच दिया है और अब खेती आर्डिनेंस जारी करके किसानों-मजदूरों को बर्बाद करने पर तुली है। साथ ही बिजली संशोधन बिल 2020 के जरिए को भी रद्द करने की मांग की।

उन्होंने कहा कि इस बिल से बिजली लोगों की पहुंच से बाहर हो जाएगी। वहीं किसानों के गन्ने की बकाया 681 करोड़ रुपए ब्याज समेत जारी करने और मिलों की पिराई क्षमता को बढ़ाने की मांग की। किसानों से आबाद खत्म करके खपतकारों को 1 रुपए यूनिट बिजली मुहैया करवाई जाए। 10-10 मरले के प्लाट गरीबों को दिए जाएं।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज का दिन पारिवारिक व आर्थिक दोनों दृष्टि से शुभ फलदाई है। व्यक्तिगत कार्यों में सफलता मिलने से मानसिक शांति अनुभव करेंगे। कठिन से कठिन कार्य को आप अपने दृढ़ विश्वास से पूरा करने की क्षमता रखे...

और पढ़ें