निर्माण मजदूर बोले:केंद्र ने पूंजीपतियों को दे दिए मजदूरों की लूट करने के अधिकार

चमकौर साहिब2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक

श्री विश्वकर्मा बिल्डिंग निर्माण कीरती कर्मचारी यूनियन की कनवेंशन वीरवार को आरजी लेबर चौक में बलविंदर सिंह भैरोमाजरा, जरनैल सिंह बाबा, गुलाब चंद चौहान की अगुवाई में हुई। कनवेंशन में यूनियन के सलाहकार मलागर सिंह, कुलदीप सिंह डहर, लखवीर सिंह हवारा, महासचिव मिस्त्री मनमोहन सिंह काला ने संबोधित करते कहा कि कोरोना काल में केंद्र सरकार ने श्रम कानून को चार कोर्ड में तबदील करके मजदूरों की लूट करने के लिए पूंजीपतियों को अधिकार दे दिए हैं। पंजाब सरकार के लेबर वेलफेयर बोर्ड ने फंड जारी नहीं किया, जिसके विरोध इंडियन ट्रेड यूनियन (इफटू) द्वारा 20 सितंबर को कीरत कमीशन के मुख्य दफ्तर मोहाली में राज्य स्तरीय धरना दिया जाएगा। धरने में ब्लॉक चमकौर साहिब से मजदूर शामिल होंगे। कनवेंशन में संयुक्त किसान मोर्चा द्वारा 27 सितंबर के भारत बंद के आह्वान का समर्थन करने की घोषणा की गई। कनवेंशन में प्रस्ताव पास करके कैबिनेट मंत्री चरनजीत सिंह चन्नी से मांग की कि शहर के आरजी लेबर चौक खत्म होने के कारण मजदूरों के लिए बैठने के लिए कोई जगह नहीं है। इस लिए जगह अलाट करके शैड बनाई जाए। इस दौरान मांग की कि जिला स्तरीय लेबर दफ्तर में सिर्फ एक मुलाजिम है, जिसके लिए मजदूरों को बड़ी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है।

उन्होंने मांग की कि लेबर दफ्तर में खाली पोस्टों पर तुरंत भर्ती की जाए। कनवेंशन में गुरमेल सिंह, जसबीर सिंह, गुरनाम सिंह, रमेश कुमार काका, मिस्त्री गुरमीत सिंह काला, जीवन सिंह, लखवीर सिंह, इंद्रजीत साहनी, रमेश गुड्‌डू, बहादर सिंह, सूरज साहनी, मंगल कुमार, गुरप्रीत सिंह, रवि कुमार आदि मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...