पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

भाखड़ा से मिली रेमडेसिविर इंजेक्शन की खेप का मामला:रेमडेसिविर गांव भ्योरा पुल से फेंके जाने का शक, पुलिस की 4 टीमें जांच में जुटीं, अज्ञात पर एफआईआर

चमकौर साहिबएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
100 एमएल के इंजेक्शन पर 5400 रुपए रेट है। - Dainik Bhaskar
100 एमएल के इंजेक्शन पर 5400 रुपए रेट है।

चमकौर साहिब के नजदीक गांव सलेमपुर से गुजरती भाखड़ा नहर की सलेमपुर व दुग्गरी झाल से वीरवार दोपहर को मिली रेमडेसिविर इंजेक्शन व इन्फेक्शन में लगने वाले सीफोपैराजोन इंजेक्शन की खेप के मामले में जांच के लिए पुलिस की चार टीमों का गठन किया गया है। रोपड़ पुलिस ने चमकौर साहिब थाने में देर रात इस संबंधी अज्ञात लोगों पर मामला दर्ज कर दिया है। पुलिस को शक है कि यह इंजेक्शन ज्यादा दूर से भाखड़ा नहर में नहीं फैंकी गईं। हमें शक है कि यह गांव भ्योरा के पास भाखड़ा नहर में फेंके गए हैं। सूत्रों की मानें तो पुलिस ने दोनों इंजेक्शनों के सैंपल लेकर सील लगाकर फोरेंसिक लैब भेज दिए हैं। रिपोर्ट से ही स्पष्ट होगा कि यह असली हैं या नकली।

तमिल भाषा लिखे होने से इन टीकों के तेलंगाना में बने होने का शक

एसएसपी रोपड़ डॉ.अखिल चौधरी ने बताया की बरामद टीकों की संख्या 1456 थी। इनमें 621 रेमडेसिविर व 849 बिना लेबल के इंजेक्शन थे। भाखड़ा नहर से मिले रेमडेसिविर इंजेक्शन पर तमिल भाषा लिखे होने से इन टीकों के तेलंगाना में बने होने का शक है। 100 एमएल के इंजेक्शन पर 5400 रुपए रेट है। कंपनी ने इसका रेट कम करके 3400 रुपए तय कर दिया है। वहीं हेटरो कंपनी के बनाए इस इंजेक्शन पर आरएक्स भी नहीं लिखा है। उन्होंने ने बताया कि नहर से टीके बरामद होने के बाद हमने नंगल तक सभी साइफन चैक करवाए। इसमें पुलिस की 4 टीमें सीसीटीवी फुटेज व अन्य तरीके से जांच कर रही हैं।

खबरें और भी हैं...