पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

पुख्त प्रबंध नहीं किए:बारिश से मंडी में भीगीं गेहूं की बोरियां, लिफ्टिंग फिर धीमी होगी

चमकौर साहिबएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • चमकौर साहिब अनाज मंडी में 1.25 लाख टन गेहूं पड़ी, बारिश से बचाने के कोई पुख्त प्रबंध नहीं किए

‌वीरवार शाम पड़ी तेज बारिश के कारण चमकौर शहर की अनाज मंडी में पानी खड़ा हो गया और बोरियां भीग गई। मंडी में गेहूं को बारिश से बचाने के लिए कोई भी पुख्ता प्रबंध नहीं किए गए। बता दें कि चमकौर साहिब एरिया की अनाज मंडियों में अब तक 5 लाख 25 हजार 27 टन गेहूं की खरीद हो चुकी है, जिसमें से 4 लाख 307 टन की लिफ्टिंग हुई है और बाकी 1 लाख 25 हजार टन गेहूं मंडी में ही पड़ी है। इस संबंधी आढ़तियों के अध्यक्ष मेजर सिंह मांगट ने बताया कि अब खरीद एजेंसियों की जिम्मेवारी बनती है कि गेहूं की बोरियों को उठाकर गोदाम में डाला जाए। एजेंसियां अपना काम सही ढंग से नहीं करवा रही और न ही लिफ्टिंग तेज करवा रहीं हैं। हमारी तरफ से गेहूं की बोरियां के नीचे क्रेटवाल भी लगाए गए हैं। लेकिन लिफ्टिंग न होने के कारण गेहूं की बोरियां बढ़ गई हैं जिसके चलते क्रेट वॉल की कमी हो गई है।

बोरियां सूखने के बाद करवाई जाएगी लिफ्टिंग

वहीं, इस संबंधी फूड सप्लाई विभाग के अधिकारी दविंदरपाल सिंह ने बताया कि हमारी एजेंसियां सही ढंग से लिफ्टिंग करवा रही हैं। कुछ दिन पहले ही बारिश होने के कारण गेहूं की बोरियां गीली हो गई थी। उन्हें सुखाकर ही उठाया जाएगा लेकिन रात दोबारा बारिश हो गई। जिससे गेहूं की बोरियां फिर से भीग गई हैं। उन्हें अब सुखाकर ही लिफ्टिंग करवाई जाएगी।

खबरें और भी हैं...