कोरोना अपडेट:6 मरीजों की मौत, 169 नए पॉजिटिव, घबराएं नहीं टीका लगवाएं, अभी तक 13,189 लोग कोरोना को दे चुके मात

गुरदासपुर6 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • कुल केस 15344, एक्टिव 1657, कुल मौत 498, रिपोर्ट पेंडिंग 1633

वीरवार को 6 और कोरोना संक्रमितों की मौत हुई। इस प्रकार जिले में कोरोना से मरने वालों की संख्या 498 तक पहुंच गई है। उधर, 169 नए मामले सामने आए। इस प्रकार जिले में कुल 15344 पॉजिटिव केस हो चुके है। सिविल सर्जन डॉ. हरभजन राम ने बताया कि अब तक 5,30,774 लोगों की सैंपलिंग की गई है, इनमें से 5,13,797 की रिपोर्ट निगेटिव रही है। जिले में इस समय 1657 एक्टिव मामले हैं। अब तक 13,189 लोग कोरोना से पूरी तरह से ठीक हो चुके हैं। इनमें से 1059 लोगों को ठीक होने के बाद घर में एकांतवास किया गया है। इस प्रकार एक दिन में 150 मरीज सेहतमंद हुए हैं।

उधर, 1384 अन्य को इलाज के लिए एकांतवास में रखा गया है। वहीं, 116 पॉजिटिव मरीजों का इलाज अन्य जिलों में चल रहा है। इसके अलावा 31 मरीज गुरदासपुर में, सात मरीज अरोड़ा अस्पताल में, 21 मरीज बटाला में, 6 मरीज संधू अस्पताल बटाला में, आठ अबरोल मेडिकल सेंटर में, चार सीएचसी धारीवाल में, 54 मरीज सेंट्रल जेल में और 26 मरीज मिलिट्री अस्पताल में एडमिट हैं। कोरोना की अभी तक 1633 लोगों की रिपोर्ट पेंडिंग है और 2437 की टेस्टिंग अन्य जिलों में हुई है। उधर, आरटीपीसीआर में 8133, ट्रूनेट में 112 और एंटीजन में 4662 केस पॉजिटिव आए हैं।

मास्क और सोशल डिस्टेंस रखें- जिले के लिए 12 हजार डोज और पहुंचे

जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. अरविंद मनचंदा ने बताया कि वीरवार को 6853 लाभपात्रियों ने कोरोना टीका लगवाया। रिपोर्ट अनुसार बटाला में 830, कलानौर में 748, बहरामपुर में 882, भाम में 735, रणजीत बाग में 200, दोरांगला में 402, नौशहरा मज्जा सिंह में 403, भुल्लर में 746, ध्यानपुर में 527, काहनूवान में 301, गुरदासपुर में 720 और फतेहगढ़ चूड़ियां में 359 ने कोविड वैक्सीन लगवाई। उन्होंने बताया कि जिला गुरदासपुर के विभिन्न ब्लॉकों के लिए 12 हजार वैक्सीन पहुंच गई है। उन्होंने कहा कि अफवाहों पर ध्यान न दें। वैक्सीनेशन जरूर करवाएं और कोरोना नियमों का सख्ती से पालन करें। तभी हम कोरोना के खिलाफ जंग जीत सकते हैं।

भ्रम त्यागें, सतर्कता अपनाएं, लापरवाह न बनें

कोविड इंजेक्शन लगने के बाद लोग लापरवाही बरतना शुरू कर देते हैं। लोग अपने मनों में इस बात को बैठा लेते हैं कि टीका तो लग ही गया, अब उनका कोरोना से पूरा बचाव है, लेकिन ऐसी धारणा महंगी साबित हो सकती है। वैक्सीन लगवाने के बावजूद सतर्कता अपनाएं। मास्क पहनना जारी रखें। सेहत विभाग की हिदायतों का पालना करें। सेहतमंद होने पर ही वैक्सीन लगवाएं। वैक्सीन लगवाने के बाद हल्का बुखार होने पर पेरासिटामॉल लें। यदि कुछ दिन बुखार रहता है तो डॉक्टर से तुरंत चेकअप कराएं। उन्होंने 18 से 44 वर्ष के लाभपात्रियों को वैक्सीन लगवाने का आह्वान किया।

-डॉ. अरविंद मनचंदा, जिला टीकाकरण अधिकारी

खबरें और भी हैं...