एनआरआई की संदिग्ध हालत में मौत का मामला:7 व्यक्तियों के खिलाफ गैरइरादतन हत्या का केस दर्ज, सभी आराेपी फरार, पुलिस कर रही छापेमारी

गुरदासपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • परिवार ने लगाए आरोप

विदेश से शादी करने के लिए घर लौटे एनआरआई युवक की संदिग्ध परिस्थितियों में मौत के मामले में थाना तिब्बड़ पुलिस ने सात आरोपियों के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज किया है। फिलहाल किसी आरोपी की गिरफ्तारी नहीं हो पाई है। पुलिस आरोपियों की तलाश में छापेमारी कर रही है।

पुलिस के उच्चाधिकारियों का कहना है कि जल्द ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। बता दें कि पीड़ित परिवार ने गांव के कुछ युवकों पर आरोप लगाया था कि उन्होंने लूट की नीयत से रघुबीर सिंह (29) पुत्र सुच्चा सिंह निवासी गांव भुल्लेचक्क के साथ मारपीट की थी, जिससे उसकी जान चली गई।

पुलिस ने मृतक की मां सतविंदर कौर के बयानों के आधार पर आरोपी गोपी पुत्र लखविंदर सिंह, गोपी पुत्र मक्खन सिंह, ज्योति पुत्र मंगल सिंह, जोनी मसीह पुत्र प्यारा मसीह, मन्ना मसीह पुत्र गुग्गा मसीह, सोहन मसीह पुत्र चन्नण सिंह और सुनील मसीह पुत्र लब्बा मसीह निवासी भुल्लेचक्क के खिलाफ गैर इरादतन हत्या का मामला दर्ज कर लिया है। पुलिस आरोपियों की तलाश में छापेमारी कर रही है।

जख्मी हालत में मिलने पर रघुबीर का मोबाइल फोन, सोने का कड़ा और विदेशी करंसी गायब थे : दलबीर सिंह
मृतक रघुबीर सिंह की मां सतविंदर कौर ने बताया कि रघुबीर 9 अक्टूबर को दुबई से घर आया था। वे उसकी शादी के लिए लड़की देखने जाने वाले थे। 10 अक्टूबर की शाम को उन्होंने रघुबीर को फोन किया तो उसने बताया कि वह अपने दोस्त के साथ है और कुछ ही देर में घर आ जाएगा, लेकिन उसके बाद से उसका फोन स्विच ऑफ हो गया।

11 अक्टूबर को गांव के ही एक व्यक्ति ने उन्हें बताया कि रघुबीर बब्बेहाली नहर के पास ग्राउंड में जख्मी हालत में पड़ा हुआ है। वे उसे गुरदासपुर के एक निजी अस्पताल में ले गए, जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। रघुबीर के बड़े भाई दलबीर सिंह ने बताया कि रघुबीर के पास करीब 90 हजार रुपए की कीमत का मोबाइल फोन, एक सोने का कड़ा और विदेशी करंसी थी। जख्मी हालत में मिलने पर उसका फोन, सोने का कड़ा और विदेशी करंसी गायब थी। लूट से पहले रघुबीर को नशा दिया गया और बाद में उससे मारपीट की गई, जिससे दोनों टांगें टूट चुकी थीं।

खबरें और भी हैं...