पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

कृषि कानून:3 साल में बदलें बीज, मिट्टी की जांच के बाद ही करें खाद का इस्तेमाल

गुरदासपुर12 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

गन्ना काश्तकारों की शिकायतों का निपटारा करने और गन्ने के विकास की समीक्षा करने के लिए इंडियन शुक्रोज लिमिटेड मुकेरियां के तहत शिकायत निवारण कमेटी की मीटिंग शुगर मिल में हुई। मीटिंग में सहायक गन्ना विकास अधिकारी डॉ. अमरीक सिंह ने कहा कि मिल से संबंधित कोई भी शिकायत लिखित रूप में प्राप्त नहीं हुई। गन्ने की प्रति हेक्टेयर पैदावार बढ़ाने के लिए शुद्ध बीज की बहुत बड़ी भूमिका है। आमतौर पर गन्ना काश्तकार गन्ने के बीज की शुद्धता की तरफ खास ध्यान नहीं देते, जिस कारण खेती सामग्री पर अधिक खर्च करने के बावजूद प्रति हेक्टेयर पैदावार कम मिलती है। इसलिए हरेक 3-4 साल के बाद गन्ने का बीज बदल देना चाहिए।

उन्होंने कहा कि शुद्ध बीज पैदा करने के लिए प्रगतिशील गन्ना काश्तकारों का चयन करने की जरूरत है, जो जरूरत के अनुसार गन्ने का शुद्ध बीज पैदा करने में सक्षम हो। उन्होंने गन्ना मिल के अधिकारियों से कहा कि इस संबंधी पूरी योजना तैयार कर की जाए, ताकि जरूरतमंद गन्ना काश्तकारों को शुद्ध बीज मुहैया कराया जा सके। गन्ने की काश्त वाले खेतों में गन्ने की फसल बहुत सारे खुराकी तत्वों की निकासी कर लेते हैं और किसान सिफारिशों से अधिक खादों का इस्तेमाल करते हैं, जिससे चीनी की रिकवरी कम मिलती है और कीड़े मकौड़े भी फसल का अधिक नुकसान करते हैं। उन्होंने मिल अधिकारियों से कहा कि गन्ने की कटाई के उपरांत खाली होने वाले खेतों में फील्ड स्टाफ के जरिए मिट्टी के नमूने एकत्र करवा लिए जाएं ताकि मिट्टी परख रिपोर्ट के आधार पर किसानों के खादों का इस्तेमाल करने के लिए प्रेरित किया जा सके।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- आज ऊर्जा तथा आत्मविश्वास से भरपूर दिन व्यतीत होगा। आप किसी मुश्किल काम को अपने परिश्रम द्वारा हल करने में सक्षम रहेंगे। अगर गाड़ी वगैरह खरीदने का विचार है, तो इस कार्य के लिए प्रबल योग बने हुए...

और पढ़ें

Open Dainik Bhaskar in...
  • Dainik Bhaskar App
  • BrowserBrowser