फाइनांस कंपनी के एजेंट से लूट का मामला:लूट के शिकार लवप्रीत ने 2 दोस्तों संग मिल रची थी कहानी, पुलिस को गुमराह करने के लिए खुद को किया था जख्मी, तीन गिरफ्तार

गुरदासपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • सीसीटीवी फुटेज में लाल पल्सर से पुलिस को लगा सुराग, सख्ती से पूछने पर एक साथी ने बताया सच, कैश और सामान मिला

3 अगस्त को थाना तिब्बड़ पुलिस ने एक फाइनांस कंपनी के एजेंट के बयानों पर लूट का मामला दर्ज किया था। पुलिस ने जांच के दौरान जब सीसीटीवी फुटेज के आधार पर बाइक सवारों को काबू कर सख्ती से पूछताछ की तो सारा मामला उल्ट निकला। क्योंकि उक्त घटना कोई लूट नहीं, बल्कि सोची समझी साजिश थी।

इसका पूरा मास्टर माइंड कोई और नहीं बल्कि लूट का शिकार लवप्रीत खुद था। पुलिस ने उक्त मामले में मास्टर माइंड सहित 3 लोगों को गिरफ्तार कर उनसे लूट की राशि व अन्य सामान बरामद कर लिया है। तीनों को कोर्ट में पेश किया गया है।

लवप्रीत और शरणजीत पहले साथ करते थे काम
पुलिस के अनुसार लवप्रीत और शरणजीत इसी फाइनांस कंपनी में एक साथ काम करते थे, लेकिन कंपनी ने शरणजीत को एक साल पहले निकाल दिया था। इसके चलते दोनों एक दूसरे को पहले से ही जानते थे। लूट की सारी योजना लवप्रीत ने बनाई और उक्त दोनों को भी इसमें शामिल किया। पुलिस को गुमराह करने के लिए लवप्रीत ने खुद रास्ते में एक गन्ने के खेत में जाकर खुद को चोटें लगाईं, ताकि उसकी सारी कहानी पर पुलिस यकीन कर सके।

3 को हुई थी लूट
3 अगस्त के दिन लवप्रीत मसीह निवासी गांव सिधवां ने पुलिस को बताया था कि वो बाइक पर फाइनांस कंपनी की रिकवरी कर गांव भुंबली के करीब एक किलोमीटर आगे पहुंचा तो 3 बाइक सवार युवकों ने ने उससे करीब 1 लाख रुपए से भरा पैसों वाला बैग, टैब, पर्स, आधार कार्ड, एटीएम और पांच हजार रुपए छीनने का प्रयास किया। उसके विरोध करने पर आरोपियों ने उस पर किरच के साथ हमलाकर दिया और बैग छीनकर ले गए।

बाइक पर 3 नहीं 2 लोग सवार थे
डीएसपी सिटी सुखपाल सिंह ने बताया कि घटना वाली जगह के आसपास लगे सीसीटीवी चेक करने पर पता चला था कि बाइक पर 3 नहीं, बल्कि लाल रंग के पल्सर पर 2 लोग सवार थे और उनके हाथ में एक बैग था। हमने फुटेज लवप्रीत को दिखाई तो उसने माना कि यह वही लोग हैं। इसके बाद थाना तिब्बड़ प्रभारी कुलवंत सिंह मान और थाना धारीवाल के प्रभारी अमनदीप सिंह के नेतृत्व में 2 टीमें बनाकर जांच शुरू की।

जांच में सामने आया कि धारीवाल के मोहल्ला लुधियाना निवासी धर्मवीर के पास लाल रंग का पल्सर है। इसके चलते धर्मवीर को अड्‌डा सिधवां से काबू कर सख्ती से पूछताछ की गई तो उसने माना कि उसने यह घटना लवप्रीत मसीह निवासी सिधवां, शरणजीत सिंह निवासी आलोवाल के साथ प्लान करके की थी। इसके बाद पुलिस ने लवप्रीत और शरणजीत को गिरफ्तार किया। पुलिस ने लवप्रीत के घर में पड़े लूट के 49 हजार 500 रुपए, शरणजीत के घर से 40 हजार रुपए और धर्मवीर की निशानदेही से एक टैब व अन्य सामान बरामद कर लिया है।

खबरें और भी हैं...