पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें
  • Hindi News
  • Local
  • Punjab
  • Jalandhar
  • Gurdaspur
  • So Far More Than 10 Lakh Vaccines Have Been Administered In The District, 7,17,001 Got The First And 2,85, 677 Got The Second Dose, Five New Corona Positives Were Found.

वैक्सीन अपडेट:जिले में अब तक 10 लाख से ज्यादा टीके लगे, 7,17,001 को पहली और 2,85, 677 को लगी दूसरी डोज, पांच नए कोरोना पॉजिटिव मिले

गुरदासपुर11 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

रविवार को जिला गुरदासपुर में कोरोना से लड़ने के लिए तैयार की गई वैक्सीन के डोज देने का आंकड़ा 10 लाख पार हो गया है। हालांकि जिले की कुल जनसंख्या 26 लाख के पार है और अभी तक सिर्फ 10 लाख के पार ही हुआ है, लेकिन खुशी की बात यह है कि पिछले कुछ महीनों में यह वैक्सीनेशन बहुत तेजी से हो रही है। यह सब सामाजिक, धार्मिक संस्थाओं, स्कूलों में लगे कैंपों की वजह से हुआ है जिसमें लोगों ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया है। सेहत विभाग के मुताबिक गत 71 दिनों में 10 मैगा कैंप लगाए गए थे। इनमें सबसे अधिक लोगों ने वैक्सीन लगवाई।

बीते 11 दिनों में ही एक लाख 13 हजार 97 लोगों ने वैक्सीन लगवाई है। जिले में अब तक कुल 2 लाख 85 हजार 677 लोगों ने दूसरी डोज लगवाई है। अब तक 1234 गर्भवती महिलाएं भी टीका लगवा चुकी हैं। सेहत विभाग ने आह्वान किया है कि गर्भवती और बच्चों को दूध पिलाने वाली महिलाएं भी आगे आकर टीका लगवाएं। 7 लाख 17 हजार 001 पहला और 2 लाख 85 हजार 677 लोग दूसरा डोज लगवा चुके हैं। जिले में अब तक 10,02,920 लोगों को वैक्सीन लग चुकी है। जिले में 9,20,835 कोवीशिल्ड और 81,843 कोवैक्सीन की डोज लगाई गई।

स्कूलों में की जा रही सैंपलिंग, कोई पॉजिटिव नहीं मिला

सेहत विभाग के अनुसार उन्हें वैक्सीन खत्म करने का टारगेट होता है। जितनी उन्हें वैक्सीन मैगा ड्राइव के दौरान मिलती है, उसे खत्म करना होता है। इसके लिए गांव में आशा वर्करों की तरफ से घर-घर जाकर लोगों को जागरूक किया जाता है। जिले में मैगा वेक्सीनेशन कैंप की शुरुआत 3 जुलाई को हुई थी। इसमें 50 हजार वैक्सीन लगाने का टारगेट था और उस दिन 40 हजार 970 लोगों ने वैक्सीन लगवाई थी। सेहत विभाग ने 71 दिनों में 10 मैगा वैक्सीनेशन कैंप लगाए हैं। इन मैगा कैंप में 2,62,294 लोगों को वैक्सीन लगाई गई है।

मैगा ड्राइव में ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाई गई है। सेहत विभाग के अनुसार जिले के सभी स्कूलों में सैंपलिंग की जा रही है। सरकारी और प्राइवेट स्कूलों मे अभी तक की गई सेंपलिंग में न तो कोई बच्चा और न ही कोई अध्यापक पॉजिटिव पाया गया है। बच्चों का अभी तक टीका नहीं आया है। जिले मे अब तक डेढ़ लाख के करीब सेंपल लिए जा चुके हैं।

खबरें और भी हैं...