भूख हड़ताल:पक्के मोर्चे पर 335वें जत्थे ने रखी भूख हड़ताल, कंगना रनौत का पद्मश्री वापस लेकर गिरफ्तार किया जाए- किसान नेता

गुरदासपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • किसानों के दबाव में केंद्र सरकार द्वारा कानून वापस लेने पर किसान नेताओं ने खुशी व्यक्त की

गुरदासपुर रेलवे स्टेशन पर चल रहे पक्के किसान मोर्चे के 418वें दिन सोमवार को 335वें जत्थे ने भूख हड़ताल की। भूख हड़ताल में भारतीय किसान यूनियन क्रांतिकारी के कर्म सिंह, रणयोद्ध सिंह, अजीत सिंह, डाॅ. अशोक भारती ने हिस्सा लिया। धरने को संबोधित करते हुए मक्खन सिंह कोहाड़, गुरदीप सिंह, लखविंदर सिंह, अविनाश सिंह, एसपी सिंह, कपूर सिंह, सुखदेव सिंह, जगजीत सिंह, रघुबीर सिंह आदि ने रविवार 21 नवंबर को रेलवे स्टेशन पर मनाए गए गुरु नानक देव के प्रकाशोत्सव से ली गई शिक्षाओं पर चर्चा की।

किसान नेताओं ने कहा कि संयुक्त किसान मोर्चे के आदेश पर 26 नवंबर को बड़ी संख्या में किसानों के जत्थे दिल्ली को रवाना होंगे। वे 29 नवंबर से पार्लियामेंट की तरफ भी जाएंगे। उन्होंने कहा कि जब तक पार्लियामेंट में खेती कानून रद्द नहीं होते, एमएसपी को कानूनी दर्जा नहीं दिया जाता, संशोधन बिल वापस नहीं होता, प्रदूषण बिल में से किसानों वाली धारा रद्द नहीं होती, अजय मिश्रा को गिरफ्तार नहीं किया जाता तब तक धरना जारी रहेगा। किसानों के दबाव में केंद्र सरकार द्वारा कानून वापस लेने पर किसान नेताओं ने खुशी व्यक्त की और वहीं कंगना रनौत द्वारा शर्मनाक बयान देने पर उसे गिरफ्तार करने और उससे पद्मश्री पुरस्कार वापस लेने की मांग की गई।

खबरें और भी हैं...