छोटी सरकार, बड़ा काम:पहली पंचायत जिसका अपना कांप्लेक्स जिम व गेस्ट हाउस, हर गली का अलग नाम

गुरदासपुर9 महीने पहलेलेखक: हरदीप सिंह
  • कॉपी लिंक
पंचायत कांप्लेक्स जिसमें लाइब्रेरी तक की सुविधा है। - Dainik Bhaskar
पंचायत कांप्लेक्स जिसमें लाइब्रेरी तक की सुविधा है।

जिले की ग्राम पंचायत छीना रेलवाला को जीपीडीपी (ग्राम पंचायत डेवलपमेंट प्लान) में 5 लाख रुपए और सर्टिफिकेट/ट्रॉफी देकर पुरस्कृत किया गया। गांव छीना रेलवाला एकमात्र ऐसा गांव है जोकि जिला गुरदासपुर और पंजाब ही नहीं बल्कि पूरे हिंदुस्तान में अपने विकास को लेकर प्रसिद्ध हो चुका है। यही नहीं गांव के सरपंच पंथदीप पर एक पंजाबी फिल्म चैंपियन ऑफ चेंज, पंथदीप सिंह भी बन चुकी है।

पंथदीप लगातार 2 बार गांव के सरपंच बन चुके हैं और लगातार 7 बार भारत सरकार की तरफ से सम्मानित किए जा चुके हैं। दो साल में ही यह केंद्र सरकार की तरफ से 31 लाख रुपए की इनाम राशि प्राप्त कर चुके हैं। उनका कहना है कि आज तक उन्हें पंजाब सरकार की तरफ से एक रुपया भी ग्रांट नहीं दी गई। वह अपने परिवार की सहायता से ही गांव का विकास करवा रहे हैं।

8 साल के कार्यकाल में 7 नेशनल अवॉर्ड

पंथदीप ने बताया कि वह लगातार दूसरी बार सरपंच बने। आठ साल के कार्यकाल में यह उनका सातवां अवाॅर्ड है। पंचायत में हर घर के लिए सीवरेज है। पंचायती कांप्लेक्स बनाया है जिसमें जिम, लाइब्रेरी, आॅफिस, गेस्ट रूम और पार्क हैं। गांव की हर गली का नाम रखा गया है। सीमेंट के बेंच लगाए हैं, पूरी लाइट खरीदने की बजाय पार्ट खरीद इन्हें खुद इंस्टाल किया। इससे यह सस्ती पड़ीं और पैसा भी बचा।

खबरें और भी हैं...