पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

समाजसेवा:डेढ़ साल से गुरदासपुर सिविल अस्पताल के मरीजों के लिए लंगर पहुंचाने की सेवा निभा रही गुरुद्वारा सिंह सभा की प्रबंधक कमेटी

गुरदासपुर4 दिन पहले
  • कॉपी लिंक
  • लॉकडाउन में लगातार निभाई सेवा, आसपास के गांवों की संगत भी कर रही सहयोग

सिविल अस्पताल में दाखिल मरीजों और उनके परिजनों के लिए गुरुद्वारा सिंह सभा, फज्जूपुर की प्रबंधकीय कमेटी डेढ़ साल से लंगर की सेवा निभा रही है। यह सिलसिला लगातार जारी है। रोजाना गुरुद्वारा साहिब से लंगर लेकर गाड़ी अस्पताल परिसर में पहुंचती है, जहां तय स्थान पर पूरे सेवाभाव के साथ लंगर बांटा जाता है। खास बात यह है कि लॉकडाउन के दौरान भी अस्पताल में लंगर पहुंचाने का सिलसिला लगातार जारी रहा। इस दौरान भी मरीजों और उनके परिजनों के लिए लंगर पहुंचाया जाता रहा।

कमेटी की तरफ से दिन में 2 बार पहुंचाया जाता है खाना
सेवादार तरसेम कुमार ने बताया कि पुरषोत्तम लाल सिंह के नेतृत्व में लंगर पहुंचाने का काम किया जा रहा है। सोमवार से शनिवार तक दिन में 2 बार अस्पताल में लंगर पहुंचाया जाता है। गाड़ी सुबह करीब साढ़े सात बजे अस्पताल पहुंचती है। इस दौरान मरीजों व उनके परिजनों को नाश्ते में चाय, परांठा और अचार पहुंचाया जाता है। इसके बाद दोपहर को फिर से गाड़ी करीब 1 बजे अस्पताल पहुंच जाती है और दाल, खिचड़ी और चपाती का लंगर पहुंचाया जाता है।

अस्पताल में होती है अनाउंसमेंट
गुरुद्वारा साहिब से जैसे ही गाड़ी लंगर लेकर सिविल अस्पताल पहुंचती है, तो वहां लगे माइक के जरिए परिसर में अनाउंसमेंट करा दी जाती है। इसके बाद मरीजों के साथ आए परिजन तय स्थान पर पहुंचकर आवश्यकता के अनुसार लंगर प्राप्त कर लेते हैं। उन्होंने बताया कि केवल रविवार वाले दिन केवल सुबह के समय ही गाड़ी लंगर लेकर आती है, बाकी के सभी दिन 2 समय के लिए सेवा की जाती है। इस काम में आस-पास के गांवों बड़ोआ और चौधरपुर की संगत भी बढ़-चढ़ कर सहयोग देती है। इसके अलावा गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी की ओर से जरूरतमंद परिवारों की बेटियों की शादी के लिए भी पूरा सहयोग दिया जाता है। शादी पर होने वाला पूरा खर्च कमेटी की तरफ से वहन किया जाता है।

आज का राशिफल

मेष
Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
मेष|Aries

पॉजिटिव- घर-परिवार से संबंधित कार्यों में व्यस्तता बनी रहेगी। तथा आप अपने बुद्धि चातुर्य द्वारा महत्वपूर्ण कार्यों को संपन्न करने में सक्षम भी रहेंगे। आध्यात्मिक तथा ज्ञानवर्धक साहित्य को पढ़ने में भी ...

और पढ़ें