किसान आंदोलन:संयुक्त किसान मोर्चा मोदी, शाह और योगी के कल फूंकेगा पुतले; रेलवे स्टेशन पर किसान मोर्चा के 296वें जत्थे ने की भूख हड़ताल

गुरदासपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक
केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए संयुक्त किसान मोर्चा के नेता। - Dainik Bhaskar
केंद्र सरकार के खिलाफ नारेबाजी करते हुए संयुक्त किसान मोर्चा के नेता।
  • नेताओं ने कहा- 18 अक्टूबर को देशभर में ट्रेनों को रोका जाएगा

रेलवे स्टेशन पर स्थायी किसान मोर्चा के 379वें दिन वीरवार काे 296वें जत्थे ने भूख हड़ताल की। इसमें भारतीय किसान संघ से राजेवाल, गुरदीप सिंह मुस्तफाबाद, गुरदीप सिंह, बलबीर सिंह बैंस, बलजिंदर सिंह कुक्कू और बाबा बलकार सिंह अमीपुरम ने हिस्सा लिया। इस अवसर पर धरने को संबोधित करते हुए गुरदीप सिंह मुस्तफाबाद, मखन सिंह, एसपी सिंह गोसाल, रघबीर सिंह चहल, मलकियत सिंह, पलविंदर सिंह, करनैल सिंह, कपूर सिंह, कैप्टन गुरजीत सिंह, बल कुलजीत सिंह, कुलबीर सिंह गोराया, हरदयाल सिंह संधू, निर्मल सिंह आदि ने बताया कि संयुक्त किसान मोर्चा (एसकेएम) दिल्ली के आह्वान पर देशभर के लखीमपुर खीरी में किसानाें की माैत के आराेपी अजय मिश्रा को मंत्रिमंडल से हटाने और उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज करने की मांग की गई।

उन्होंने कहा कि 15 अक्टूबर को रावण, मेघनाध, कुंभकर्ण के पुतलाें के बदले मोदी और अमित शाह के पुतले जलाए जाने थे, लेकिन अब अगले दिन शनिवार 16 अक्टूबर को इनके पुतले जलाए जाएंगे। नेताओं ने कहा कि इसके बाद 18 अक्टूबर को देशभर में ट्रेनों को रोक दिया जाएगा।

वहीं, नेताओं ने कहा कि अगर केंद्र की मोदी सरकार ने केंद्रीय गृह राज्य मंत्री अजय मिश्रा को पार्टी से नहीं हटाया तो और भी बड़े कार्यक्रम तैयार किए जाएंगे। इस अवसर पर नेताओं ने कहा कि केंद्र सरकार के लिए बीएसएफ के अधिकार क्षेत्र को 15 किमी. से बढ़ाकर 50 किमी. करना गलत है, संयुक्त किसान मोर्चा फैसले की निंदा करता है।

इस अवसर पर महिंदर सिंह, लखन खुर्द, दविंदर सिंह खैरा, तरसेम सिंह हयातनगर, सुखदेव सिंह, अलावलपुर, मनीष कुमार, हीरा सिंह सैनी, हरदयाल सिंह संधू, बाबा कुलदीप सिंह, जरनैल सिंह आले चक और अन्य मौजूद थे।

खबरें और भी हैं...