पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

विरोध:पंचायती राज संस्थाओं को नौकरशाही के हाथ सौंपे जाने की तैयारी पर भाकपा माले ने विरोध जताया

राजापाकर25 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

पंचायती राज संस्थाओं को नौकरशाही के हाथ सौंपने के लिए अध्यादेश लाने की तैयारी में जुटी राज्य सरकार के खिलाफ भाकपा माले के राज्यव्यापी विरोध दिवस के आह्वान पर थाना क्षेत्र के रदाहा में वरिष्ठ भाकपा माले नेता और किसान महासभा के राज्य अध्यक्ष विशेश्वर प्रसाद यादव अलीपुर में, सुमन कुमार ,मोहम्मद खुर्शीद एवम महताब राय बहुआरा में, लालाप्रसाद सिंह, रामनाथ सिंह एवम ज्वाला कुमार के नेतृत्व में कोरोना गाइडलाइन का पालन करते हुए धरना प्रदर्शन कर विरोध किया गया व पंचायतों का कार्यकाल 6 महीनों के लिए बढ़ाने वाला अध्यादेश लाने की मांग की। नेताओं ने कहा कोविड काल में पंचायती राज संस्थाओं को मजबूत करने की जरूरत है।

इनका स्थानीय जनता के साथ मजबूत और निकटतम का संबंध रहता है। वैक्सीनेशन के लिए जागरूकता पैदा करने से जांच और इलाज के लिए प्रोत्साहित करने में पंचायत प्रतिनिधियों का अहम योगदान होगा। नौकरशाही के ऊपर पहले से ही काम का भारी बोझ है। इससे वह जनता के काम शायद ही आ सकें। परंतु जनप्रतिनिधि जनता से वोट लेकर जीतते हैं और फिर जनता के बीच वोट के लिए जाना है, इसलिए जनप्रतिनिधि जनता के ज्यादा काम आएंगे। फिर जनप्रतिनिधि के हाथ में ताकत होने से लोकतंत्र मजबूत होगा।

खबरें और भी हैं...