चेतावनी:जब्त शराब करें नष्ट, सात दिनों के बाद स्टॉक मिला तो होगी कार्रवाई : डीएम

हाजीपुर2 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
विकास कार्यों की समीक्षा करतीं डीएम उदिता सिंह। - Dainik Bhaskar
विकास कार्यों की समीक्षा करतीं डीएम उदिता सिंह।
  • जिलाधिकारी ने जिले में चल रहे विकास कार्यों की समीक्षा करने के बाद पदाधिकारियों को दिये कई दिशा-निर्देश

जिले में चल रहे विभिन्न विकास योजनाओं के साथ फिलवक्त अति संवेदनशील व प्राथमिकता सूची में सबसे उपर शराबबंदी की समीक्षा की। स्थानीय समाहरणालय सभागार में जिलास्तरीय पदाधिकारियों के साथ बैठक कर चल रही योजनाएं व शराबबंदी की गहन समीक्षा की गई। नियमित रूप से प्रति सप्ताह जब्त शराब नष्ट करने का आदेश: अध्यक्षता करते हुए डीएम उदिता सिंह ने कहा कि अधीक्षक मद्यनिषेद्य एवं सभी अनुमंडल पुलिस पदाधिकारियों को निदेश देते हुए कहा कि अभी तक जब्त किये गये शराब का विनष्टीकरण शीघ्र करें।

थाना और उत्पाद टीम द्वारा जब्त शराब की जब्ती के सात दिनों के अंदर विनष्टीकरण किया जाए। शराब के कारोबार में उपयोग किये गए वाहनों के निलामी का प्रस्ताव 15 दिनों के अंदर दें। समीक्षा बैठक में शामिल पदाधिकारियों कहा कि राज्यसात किये गये वाहनों की निलामी मूल्यांकन सहित सभी प्रक्रियाओं को पूर्ण कराते हुए एक माह के अंदर कर दिया जाय। डीएम ने अधीक्षक मद्यनिषेद्य को निदेश देते हुए कहा कि दियारा क्षेत्र में रीवर पेट्रोलिंग सप्ताह के सातों दिन 24 किये जाने का निर्देश दिया है।

जीविकोपार्जन लाभुकों के साथ करें प्रखंडवार बैठक
समीक्षा बैठक में जिलाधिकारी ने जिले के सभी अनुमंडल पदाधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि प्रखंडों में सतत जीविकोपार्जन के लाभूकों के साथ प्रखंडवार बैठक कर यह जानने का प्रयास करें की उन्हें किस तरह के सहयोग की जरूरत है। वहीं उन्होंने थाना प्रभारियों को निदेश हुए कहा कि जीविकोपार्जन से लाभ लेने वाले लाभुकों का सुची यथा शिघ्र सूची उपलब्ध कराने का निर्देश दिया।

धान अधिप्राप्ति में लाएं तेजी
जिले में धान अधिप्राप्त की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि जब इच्छुक किसानों की सूची बनी हुयी है और उनका मोबाईल नंबर से संपर्क कर सभी प्रखंड विकास पदाधिकारियों को अपने कार्यालय से प्रखंड के चिन्हित किसानों को फोन कर किसानों को प्रेरित करें।

लंबित आवेदनों का दो दिन में करें निष्पादन
समीक्षा बैठक के दौरान डीएम कहा कि आरटीपीएस के तहत् प्राप्त आवेदनों को प्राथमिकता देते हुए नियमित रूप से निष्पादित करने का निर्देश दिया। लोक सेवाओं का अधिकार ( आरटीपीएस ) एवं लोक शिकायत निवारण के तहत् प्राप्त आवेदन और उसके निष्पादन की समीक्षा की गयी। जिसमें विभिन्न प्रखंडों में कुल 1050 आवेदन लम्बित पाये जाने पर नाराजगी व्यक्त की।

राशन कार्ड के आवेदन की भी हुई समीक्षा
जिलाधिकारी ने जिले के विभिन्न प्रखंडों में राशन कार्ड के लिए जमा किये गए आवेदनों की समीक्षा की गई। समीक्षा के दौरान हाजीपुर अनुमंडल में 28 और महुआ अनुमंडल में 16 आवेदन ही लंबित रहने पर डीएम ने नाराजगी व्यक्त करते हुए आवेदनों को यथा शिघ्र निष्पादित करने का निर्देश दिया। हाजीपुर, जन्दाहा, चेहराकला, पटेढ़ी बेलसर, भगवानपुर का आवेदन लंबित नहीं है।

बैठक में इन अधिकारियों की रही उपस्थिति
निदेशक डीआरडीए, जिला अपूर्ति पदाधिकारी, सिविल सर्जन, अनुमंडल पदाधिकारी हाजीपुर, जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी, पुलिस उपाधीक्षक मुख्यालय सहित अन्य पदाधिकारी समीक्षा बैठक में शामिल हुए जबकि विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से अनुमंडल पदाधिकारी, अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं अंचलाधिकारी जुड़े हुए थे।