तैयारी:अब वाहनों के आगे और पीछे लगवाना होगा रेट्रो रिफलेक्टिव कलर स्टीकर

हाजीपुर9 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • राष्ट्रीय सड़क सुरक्षा परिषद की योजना पर अमल से सड़क दुर्घटना का गिरेगा ग्राफ

सड़क सुरक्षा परिषद ने वाहन दुर्घटना के कारण होने वाली मौत व अन्य प्रकार की क्षति पर रोक लगाने के लिए एक योजना पेश की है। इस योजना के तहत शीघ्र ही जिले के सभी वाहनों ट्रैक्टर, ऑटो, ठेला, स्कूटर, मोटरसाइकिल और रिक्शा सहित अन्य वाहनों के पीछे भी रेट्रो रिफलेक्टिव कलर स्टीकर लगाया जाएगा।

जिले के लगभग 10 हजार ट्रैक्टर-ट्रेलर पर भी ऐसे स्टिकर लगाए जाएंगे। इससे रात में दूर से ही इस चमकीले स्टिकर के माध्यम से वाहनों की आवाजाही के बारे में पता चल जाएगा।

पीडब्लूडी को सौंपी गई है स्टिकर लगाने की जिम्मेवारी
योजना अंतर्गत अब जिले के सभी प्रकार के वाहनों पर लाल, सफेद और पीला रंग के स्टीकर निशुल्क में लगाया जाएगा। इनकी कीमत लगभग 3000 प्रति स्टीकर होगी। जिला सुरक्षा परिषद ने वाहनों पर स्टीकर लगाने का जिम्मा पथ निर्माण विभाग को सौंपा है। जिससे पथ निर्माण विभाग ने अभियान चलाकर सड़कों पर दौड़ रही सभी प्रकार की वाहनों के आगे पीछे यह स्टीकर लगाने की तैयारी में हैं।

जल्द शुरू कर सभी अनुमंडल और प्रखंड मुख्यालयों में इसे लागू किया जाएगा
योजना अंतर्गत पथ निर्माण विभाग के कार्यपालक अभियंता ई. विनोद बिहारी ने बताया कि योजना अंतर्गत बीते 13 फरवरी को शहर की सड़कों पर सभी प्रकार की वाहनों पर स्टीकर लगाया गया था। फिलहाल अभी स्टीकर नहीं लगाया जा रहा हैं। बहुत जल्द जिला मुख्यालय से शुरू कर अनुमंडल और प्रखंड मुख्यालयों में इसे लागू किया जाएगा ताकि सड़क दुर्घटना के ग्राफ को कम किया जा सके।

जिले में पहली बार शुरू होने वाली इस योजना से एक तरफ जहां सड़क दुर्घटना में कमी आएगी, वहीं दूसरी ओर सड़क दुर्घटना में मरने वाले लोगों की संख्या भी घटेगी। जिले के मुख्यमार्ग समेंत सभी छोटी बड़ी सड़क से गुजरने वाले सभी ऐसे वाहनों पर रेट्रो रिफलेक्टिव स्टीकर चिपकाया जाएगा। वाहनों को यह सुविधा नि:शुल्क मिलेगी। पथ निर्माण के मेंटेनेंस विभाग के द्वारा इस योजना को धरातल पर लाया जा रहा है।

अधिकारियों की देखरेख में चलेगा अभियान
योजना अंतर्गत असिस्टेंट इंजीनियर इस अभियान का नेतृत्व करेंगे। एसडीओ जेई सहित अन्य वरीय अधिकारियों की भी इसमें सक्रिय भूमिका रहेगी। 20 से अधिक कर्मियों की टीम तैयार की जा रही है। सुबह 10 बजे से यह अभियान दिन भर चलेगा। कंपनी द्वारा हजारों की संख्या में तीन रंग के रेट्रो रिफ्लेक्शन स्टीकर उपलब्ध कराया जा रहा है। फिलहाल शहरी एरिया पर अधिक फोकस है और इसके बाद ब्लॉक हेड क्वार्टर और सबडिवीजन हेड क्वार्टर में इस अभियान को चलाया जाएगा।

खबरें और भी हैं...