सजा:ससुर की हत्या के दोषी दामाद को आजीवन कारावास की सजा

हाजीपुर3 महीने पहले
  • कॉपी लिंक
  • दामाद ने ससुर को ताड़ी पिलाकर गला रेत दिया था

ससुर की हत्या में दोषी पाए गए आरोपी को अपर जिला न्यायाधीश दशम प्रवीण कुमार सिंह त्रिनेत्र की अदालत ने आजीवन कारावास की सजा सुनाई है। इसके साथ 20 हजार का अर्थदंड भी लगाया है। अदालत ने दोनों पक्षों की दलील और गवाहों की गवाही सुनने के बाद आरोपी राजकुमार पासवान को 4 अगस्त को दोषी पाया था। जिसके बाद सजा के फैसले को सुरक्षित रख लिया गया था। शनिवार को उसे आजीवन कारावास की सजा सुनाई गईं। अर्थदंड नहीं देने पर उसे अतिरिक्त सजा भी काटनी पड़ेगी।

अपर लोक अभियोक रमेश कुमार ने बताया महुआ थाना अंतर्गत फुलवरिया निवासी विजेंद्र पासवान ने पुत्री का विवाह बलिगांव थाना के बेलादम गांव के नथुनी पासवान के पुत्र राजकुमार पासवान के साथ की थी। पुत्री को ससुराल में पति एवं अन्य द्वारा प्रताड़ित किया जाता था। इसलिए वह मायके में आकर रहने लगी। तब राजकुमार पासवान ने कई बार ससुराल पहुंचकर विदाई कराने को लेकर हंगामा करता रहता था, तब मृतक ने दामाद से कहा कि बाहर जाकर कमाओ पत्नी बच्चा का भरण पोषण करो तब विदाई करेंगे।

तब आरोपी ने 23 मई 2018 को गांव के भूतनाथ चौक पर ससुर के सामने पहुंचा और गलती स्वीकार करते हुए माफी मांगी। ससुर ने दामाद को माफ कर दिया तब दामाद ने तारी पीने के लिए तारी दुकान पर ले गया और ससुर को अधिक तारी पिला कर घर पहुंचाने के बहाने ले गया। सुनसान जगह पर ले जाकर हंसली से गला रेतकर हत्या कर दिया। इस मामले में 24 मई 2018 को महुआ थाना को सूचना देकर दामाद व अन्य दो खिलाफ प्राथमिकी दर्ज कराया गया।

मामले में पुलिस ने जांच में दो व्यक्ति का नाम काटते हुए डायरी कोर्ट को सौंप दिया था। मामले में राजाराम पासवान के बयान पर थाने में राजकुमार पासवान के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज की गई थी। पुलिस ने आरोपी दामाद को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। तभी से वह जेल में बंद है। कांड के अनुसंधान की तरफ से आरोप पत्र समर्पित किए जाने के बाद मामले की सुनवाई अदालत में चल रही थी। अभियोजक पक्ष और बचाव पक्ष का सुनने के बाद कोर्ट ने उसे दोषी पाते हुए सजा सुनाई।

खबरें और भी हैं...