पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

डाउनलोड करें

200 मरीजों को सेल दे चुके संस्था से जुड़े सदस्य:भाई घनैया जी चेरिटेबल संस्था के 2 कर्मियों ने प्लेटलेट्स देकर बचाई दो महिलाओं की जान

होशियारपुर2 दिन पहले
  • कॉपी लिंक

शहर में आ रहे डेंगू मरीजों की संभाल के लिए समाजसेवी संस्था भाई घनैया जी चेरिटेबल ब्लड बैंक होशियारपुर दिन-रात काम कर रही है। संस्था के प्रबंधक प्रधान जसदीप सिंह पाहवा ने बताया कि पिछले 35 साल से चल रही उक्त संस्था के पास इस समय बड़े स्तर पर खूनदानी हैं। पहली सितंबर से लेकर अब तक संस्था की तरफ से 200 मरीजों को सेल और 300 मरीजों को खून दान किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि उनके पास प्लेटलेट्स सेल निकालने वाली अमेरिकन कंपनी की दो मशीनें हैं, जो 2015 और 2016 में खरीदी गई थीं। संस्था के सुपरवाइजर दिलबाग सिंह ने बताया कि संस्था की तरफ से सेल प्राप्त करने वाले मरीज से किट का खर्च ही लिया जाता है। दिलबाग सिंह ने बताया कि रविवार रात करीब 1.30 बजे उनके पास आधा दर्जन के करीब प्रवासी मजदूर पहुंचे।

उन्होंने बताया कि उनकी 2 महिला मरीज हैं, जिनमें सेल कम हो गए हैं व उनकी जान जा सकती है। इनमें मंजू शहर के एक निजी अस्पताल में जबकि सीमा सिविल अस्पताल में भर्ती है। इस पर संस्था की तरफ उसी समय सभी दानी युवकों से संपर्क कायम किया, लेकिन बात नहीं बनीं। इस पर भाई घनैया जी चैरिटेबल ब्लड बैंक के कर्मचारी बिक्रमजीत सिंह और सन्नी राणा जो उस समय ड्यूटी पर थे ने अपने सेल देकर दोनों मरीजों की जान बचाई। उन्होंने बताया कि एक व्यक्ति के सेल निकालने के लिए डेढ़ घंटे का समय लगता है और एक बार एक दानी से करीब 50 हजार के करीब ही सेल दान लिए जाते हैं।

खबरें और भी हैं...