कोरोना के चलते काम न मिलने से रहता था परेशान:हरदोखानपुर गांव में आर्थिक तंगी से परेशान व्यक्ति ने फंदा लगा दी जान

होशियारपुर2 वर्ष पहले
  • कॉपी लिंक

गांव हरदोखानपुर के बाहर एक खाली प्लाट में गांव के ही युवक ने गरीबी और आर्थिक तंगी से परेशान होकर फंदा लगाकर जान दे दी। मॉडल टाउन पुलिस ने 174 की कार्रवाई कर पोस्टमार्टम करवा शव परिजनों के हवाले कर दिया है। एसएचओ करनैल सिंह ने बताया कि सूचना मिली थी कि हरदोखानपुर गांव के बाहर प्लाट में युवक ने फंदा लगाकर जान दे दी है।

इसके बाद शव कब्जे में ले लिया। मृतक के परिजनों ने बताया कि तेजपाल (27) पुत्र सुरिंदरपाल घर में गरीबी और आर्थिक तंगी से काफी परेशान रहता था। वह मजदूरी करता था। पिता सुरिंदरपाल की एक साल पहले मौत हो गई थी। उसकी दो बहने हैं, जिनकी अभी शादी नहीं हुई है। पिता की मौत के बाद घर का सारा खर्च उसे उठाना पड़ रहा था।

कोरोना महामारी के चलते लगे कर्फ्यू और लॉकडाउन से मजदूरी का काम भी नहीं मिल रहा था, जिस कारण काफी परेशान रहने लगा था। पीड़ित परिवार ने बताया कि मंगलवार रात को घर में खाना खाने के बाद तेजपाल घर के बाहर चला गया और देर रात तक वापस घर नहीं लौटा।

सुबह किसी ने बताया कि गांव के बाहर खाली प्लाट में उसका शव मिला है। कहा कि तेजपाल ने घर में गरीबी व आर्थिक तंगी के चलते फंदा लगा खुदकुशी की है। मृतक की माता और दोनों बहनों का रो-रोकर बुरा हाल था। एसएचओ करनैल सिंह ने बताया कि धारा 174 तहत कार्रवाई की है।

खबरें और भी हैं...