पाएं अपने शहर की ताज़ा ख़बरें और फ्री ई-पेपर

Install App

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

मां ने लगाया आरोप:आरोपियों ने रेप कर बेटी को सल्फास खिलाई, पुलिस का कहना- बदनामी के डर से निगला

होशियारपुरएक महीने पहले
  • कॉपी लिंक

जिला होशियारपुर के तहत एक गांव में गांव के ही 2 लड़कों द्वारा होली के एक दिन पहले 17 वर्षीय दलित लड़की काे गाड़ी में अगवा कर लिया और उसके साथ दुष्कर्म किया। जानकारी के मुताबिक लड़की को अगवा करते समय उसने दोनों लड़कों का विरोध किया, बावजूद दोनों युवक उसे धक्के से गाड़ी में डालकर ले गए।

हालांकि, घटनास्थल पर मौजूद कुछ महिलाओं ने उक्त युवकों को देखकर शोर भी मचाया, लेकिन जब तक लोग इक्ट्‌ठा हुए तब तक आरोपी फरार हो चुके थे। इस संबध में थाना बुल्लोवाल में आरोपी लवप्रीत सिंह और गुरप्रीत सिंह के खिलाफ धारा 363,366 -ए,365, 306,376 तहत मामला दर्ज कर उनकी तलाश शुरू कर दी है।

पीड़ित लड़की की मां ने आरोप लगाया है कि उनकी लड़की को दोनों ने अगवा कर उसके साथ रेप किया और अपने बचाव के लिए बाद में उसको सल्फास की गोलियां खिलाने के बाद घर के आगे फेंककर फरार हो गए। वहीं, पुलिस की एफआईआर के मुताबिक लड़की ने घर आकर बदनामी के डर के कारण सल्फास की गोलियां निगलकर अपनी जान दे दी। डीएसपी सतिंदर सिंह चड्‌ढा ने इसकी पुष्टि की है। एसएसपी नवजाेत सिंह माहल पीड़ित युवती के परिजनों से मिलने पहुंचे।

मजदूरी करता है परिवार, पंचायत स्कीम में मिला था 5 मरले का प्लाॅट, मकान बनाना था
दुष्कर्म का शिकार युवती का पिता परिवार से अलग दूसरे गांव में रहता है। युवती अपने भाई और मां के साथ रहती थी। मृतक की मां मजदूरी कर अपने बेटे और बेटी का पालन पोषण करती है। इतना ही नहीं आसपास के गांव के कुछ लोग उनके परिवार की आर्थिक मदद करते रहते थे।

एक समाजसेवी ने उनको पंचायती स्कीम से एक 5 मरले का प्लाॅट भी लेकर दिया था, लेकिन अभी वह मकान नहीं बना सके थे। पीड़ित युवती एक सरकारी स्कूल में 11वीं क्लास में पढ़ रही थी। बेटी की मौत से पूरे परिवार का रो-रो कर बुरा हाल है। पीड़िता की मां ने जल्द आरोपियों को पकड़ने व सजा दिलाने की पुलिस से गुहार लगाई है।

कैप्टन सूबे में शांति व कानून व्यवस्था नहीं दे सकते तो पद से इस्तीफा दें : तीक्ष्ण सूद
लड़की से दुष्कर्म के मामले पर भाजप के वरिष्ठ नेता व पूर्व कैबिनेट मंत्री तीक्ष्ण सूद ने पंजाब की कांग्रेस सरकार को घेरा है। तीक्षण सूद ने कहा कि पंजाब में कानून व्यवस्था नाम की कोई चीज नहीं है। गांव की दलित लड़की से दुष्कर्म किए जाने के बाद पुलिस की निष्क्रियता के चलते उसे आत्महत्या करने को मजबूर होना पड़ा।

इस केस में दुष्कर्म आरोपियों के बराबर ही पुलिस अधिकारी भी जिम्मेदार हैं, जिनकी लापरवाही से यह सब हुआ। पूर्व मंत्री ने कहा कि प्रदेशभर में चोरी,डकैती और लूटपाट की घटनाओं के साथ साथ दुष्कर्म के मामले भी तेजी से बढ़ रहे हैं। पूर्व मंत्री तीक्षण सूद ने कहा कि मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह सूबे को अगर शांति कानून व्यवस्था नहीं दे सकते तो उन्हें त्यागपत्र दे देना चाहिए। उन्होंने कहा कि दुष्कर्म के दोनों आरोपियों को पुलिस जल्द गिरफ्तार करे और कड़ी से कड़ी सजा दी जाए।

खबरें और भी हैं...

    आज का राशिफल

    मेष
    Rashi - मेष|Aries - Dainik Bhaskar
    मेष|Aries

    पॉजिटिव- वर्तमान परिस्थितियों को समझते हुए भविष्य संबंधी योजनाओं पर कुछ विचार विमर्श करेंगे। तथा परिवार में चल रही अव्यवस्था को भी दूर करने के लिए कुछ महत्वपूर्ण नियम बनाएंगे और आप काफी हद तक इन कार्य...

    और पढ़ें